कोरोना के बढ़ते आकड़ो ने यात्रा पर लगाई रोक

शहडोल।देवोत्थान एकादशी से शादी विवाह के कार्यक्रमों में तेजी आने वाली है। जो विवाह मार्च से लेकर जून तक होना थे और रद्द हो गए थे अब वे सभी कार्यक्रम 24 नवंबर से 11 दिसंबर तक हो रहे हैं। इन तिथियों में जमकर शादियां हो रही हैं। लोगों ने बाहर जाने के लिए जो ट्रेन ठीक लगी उससे अपना रिजर्वेशन भी करा लिया था लेकिन अचानक बदले हालातों ने उनको चिंता में डाल दिया है। दिल्ली में जिस तरह से कोरोना के केस बढ़ रहे हैं और सरकार जिस तरह से कसावट कर रही है उसको देखते हुए लोगों ने अब दिल्ली और यूपी के शहरों की ओर जाने का प्रोग्राम कैंसिल करना शुरू कर दिया है। इस समय रेलवे की बुकिंग विंडो पर आरक्षण कराने वालों के साथ साथ टिकट कैंसिल कराने वाले भी लाइन में लगे नजर आ रहे हैं।

लोग फोन कर बता रहे मजबूरी

शादी विवाह में जाने वाले रिश्तेदारों को अब फोन कर मजबूरी बता रहे हैं। लोग फोन कर उनसे खाता नंबर भी मांग रहे हैं जिससे कि वे शादी में दिया जाने वाला व्यवहार खाते में डाल दें और किसी तरह से यह रस्म पूरी हो जाए। दिल्ली और उत्तर प्रदेश के हालातों को देखते हुए लोग बैचेन हैं। हालांकि जो खास रिश्तेदार हैं उनको तो शादी विवाह में जाना मजबूरी है वे ही अपना टिकट कैंसिल नहीं करा रहे, बाकी अन्य लोग अपना टिकट कैं सिल कराने का फार्म भरकर विंडो पर दे रहे हैं।

शहडोल से दिल्ली व अन्य रूट पर त्योहार स्पेशल कुछ गाड़ियों का संचालन किया गया था पर उनको 28 और 29 नवंबर से बंद किया जा रहा है। एक दिसंबर के बाद 11 दिसंबर तक शादियों की अच्छी लगन है और इस समय ट्रेन न मिलने से लोग परेशान हो रहे हैं। किसी तरह से लोग कटनी जबलपुर जाकर ट्रेन पकड़ने की तैयारी कर रहे हैं पर दिल्ली रूट पर जबलपुर व कटनी से एक दिसंबर के बार इक्का दुक्का ट्रेन को छोड़कर कोई ट्रेन ही नहीं मिलती नजर आ रही है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *