गर्भवती एवं धात्री महिलाओं के स्वास्थ्य सुरक्षा हेतु कोविड टीका उपयुक्त

Ajay Namdev- 6269263787

अनूपपुर/ गर्भवती एवं धात्री महिलाओं को कोविड-19 टीकाकरण जिला अस्पताल सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र व उप स्वास्थ्य केन्द्र स्तर पर लगाए जाने के निर्देश राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन म.प्र. द्वारा दिए गए हैं। कलेक्टर सुश्री सोनिया मीना के निर्देशन पर जिले के जिला अस्पताल सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र व उप स्वास्थ्य केन्द्र स्तर पर कोविड टीकाकरण महा अभियान के रूप में आगामी 24 सितम्बर को लगाया जाएगा। जिला स्वास्थ्य अधिकारी 01 डॉ. आर.पी. सोनी ने बताया है कि जिले के आशा कार्यकर्ता, आशा सहयोगी, एएनएम, सीएचओ द्वारा कोविड टीकाकरण के महत्व के बारे में जानकारी देते हुए एचएमआईएस में पंजीकृत महिलाओं का टीकाकरण सुनिश्चित करने को कहा गया है। निर्देश में कहा गया है कि आरसीएच पोर्टल में जिन महिलाओं की डिलवरी सितम्बर 2021 के पूर्व हुई है, उन्हें शिशुवती के रूप में एवं पोर्टल में जिन महिलाओं ने एलएमपी जनवरी 2021 के पूर्व दर्ज किया गया है उन्हें गर्भवती महिलाओं के रूप में कोविड-19 टीकाकरण महाअभियान के अंतर्गत टीकाकृत किया जाए। उन्होंने बताया कि गर्भवती एवं शिशुवती माताओं को कोविड-19 टीकाकरण केन्द्र पर मोबलाईज कराने के भी निर्देश दिए गए हैं। महिला एवं बाल विकास विभाग की गर्भवती एवं धात्री महिलाओं की सूची से सत्यापित करने के निर्देश दिए गए हैं। जिससे कोविड टीकाकरण से कोई महिला वंचित ना रह जाए। कोविड टीकाकरण हेतु आने वाली गर्भवती महिलाओं की प्रसव पूर्व जांच भी सुनिश्चित करने तथा आवश्‍यकतानुसार गर्भवती एवं धात्री महिलाओं को आयरन एवं कैल्सियम की गोली उपलब्ध कराने को कहा गया है। डॉ. सोनी ने बताया कि गर्भवती एवं धात्री महिलाओं में कोविड के कोवैक्सीन और कोविशील्ड दोनों टीके सुरक्षित हैं। अतः दोनों में से कोई भी टीका लगाया जाना सुनिश्चित करें। द्वितीय खुराक भी उसी वैक्सीन की लगाई जाए, जो पूर्व में प्रथम डोज के रूप में लगाई गई है। उप स्वास्थ्य केन्द्र स्तर पर एचडब्ल्यूसी के रूप में चिन्हित है उन संस्थाओं पर केन्द्र से अधीनस्थ ग्रामों से गर्भवती एवं धात्री महिलाओं को सीएचओ द्वारा कोविड टीकाकरण हेतु आशा कार्यकर्ता एवं आशा सहयोगी के माध्यम से मोबलाइज कर लाये जाने के निर्देश दिए गए हैं। जिन उप स्वास्थ्य केन्द्र पर सीएचओ पदस्थ नहीं हैं, ऐसी संस्थाओं पर ए.एन.एम. द्वारा कोविड टीकाकरण किया जाए। ऐसी संस्थानों सुपर विजन हेतु सेक्टर अधिकारी की ड्यूटी लगाई जाए। साथ ही संस्था पर एईएफआई किट उपलब्ध हो। टीकाकरण पश्‍चात गर्भवती महिलाओं को 30 मिनट तक निगरानी हेतु रखा जाए, जहां बैठने एवं पानी की उचित व्यवस्था हो।

किसी भी गर्भवती एवं धात्री महिलाओं में गंभीर जटिलता जैसे सीवियर एनीमिया, सीवियर पीआईएच एवं अन्य वर्तमान गंभीर अवस्था में कोविड का टीका उप स्वास्थ्य केन्द्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में न लगाते हुए स्वास्थ्य संस्था जहां स्त्री रोग विषेषज्ञ पदस्थ है वहां रेफर करने के निर्देश दिए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *