नर भालु की हुई मौत, रिपोर्ट आने पर कारणों का हाेगा खुलासा

शहडोल। उत्तर वन मण्डल के उप वन मंडल ब्यौहारी के वन परिक्षेत्र गोदावल में 6 अगस्त को दो ग्रामीणों को मौत के घाट उतारने वाले और तीन ग्रामीणों को गंभीर रूप से घायल करने वाले नर भालू का शव रविवार की सुबह पोड़ी सर्किल के हिडवाह बीट के पतेरा टोला में सड़क के किनारे जंगल में पाया गया। वहीं इस मामले में वन विभाग ने अभी तक चुप्पी साध रखी है कि भालू की मौत किन कारणों से हुई, यह अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है, वन विभाग ने शव को कब्जे में लेने के बाद पीएम कराकर अंतिम संस्कार कर दिया।
6 अगस्त को मवेशी छोडऩे गये जंगल में ग्रामीण बब्लू सिंह और जगत देव सिंह को भालू जंगल की ओर घसीट कर मौत के घाट उतार दिया था, बचाने के लिए पहुंचे राजेश सिंह, हरिलाल और दिनेश भी घटना का शिकार हुए थे, जिन्हें उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया गया था, ग्रामीणों की मौत के बाद पूरे क्षेत्र में आक्रोष व्याप्त था, ग्रामीण धरने पर बैठ गये थे और भालू को पकडऩे की मांग कर रहे थे।
नर भालू का शव ठीक उसी स्थान के पास पाया गया, जहां पर भालू ने दो को निशाना बनाया था, रविवार की सुबह स्थानीय लोगों ने हिडवाह बीट के पतेरा टोला में सड़क से लगे जंगल में नर भालू का शव देखा। जिसके बाद वन विभाग की टीम को सूचना दी, मौके पर पहुंचने के बाद टीम ने भालू के शव को अपने कब्जे में लेने के बाद पीएम कराकर अंतिम संस्कार कर दिया। रिपोर्ट आने के बाद ही इस बात का खुलासा हो पायेगा कि भालू की मौत किन कारणों से हुई, लगातार जंगल में भालू के विचरण करने से ग्रामीणों में आक्रोष था, भालू की मौत के बाद ग्रामीणों ने राहत की सांसे ली।
इनका कहना है…
भालू का शव ग्रामीणों ने सुबह देखा, जिसके बाद सूचना विभाग को मिली, मौके पर पहुंचने के बाद शव को अपने कब्जे में लेकर शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया है, पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का खुलासा हो सकेगा, बिसरा भी जांच के लिए लैब भेजा जायेगा।
नरेन्द्र प्रसाद वर्मा
वन परिक्षेत्र अधिकारी
पश्चिम वन मण्डल, ब्यौहारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *