मानपुर मे हुई लोकतंत्र की हत्या @ कांग्रेस ने प्रशासन पर लगाया सदस्यों को मतदान से वंचित करने का आरोप

•उमरिया। जिले के मानपुर जनपद मे हुए अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद के निर्वाचन को कांग्रेस ने लोकतंत्र की हत्या बताया है। सांथ ही पार्टी ने प्रशासन पर भी भाजपा के ऐजेन्ट की तरह कार्य करने का आरोप लगाते हुए कहा कि अधिकारी पूरी तरह से सरकार के इशारे पर जनादेश को कुचलने मे लगे हुए हैं। जिला कांग्रेस कमेटी द्वारा जारी विज्ञप्ति मे कहा गया है कि गत 27 जुलाई को 10 बजे से जनपद के निर्वाचित सदस्यों का सम्मिलन बुलाया गया था, परंतु निर्धारित प्रक्रिया का पालन किये बगैर अधिकारियों ने भाजपा के अध्यक्ष पद की दावेदार से आनन-फानन मे नाम निर्देशन पत्र लेकर उसे निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिया।

इस तरह से नकेवल भाजपा सरकार के इशारे प्रशासनिक अधिकारियों ने चुनावी प्रक्रिया को दूषित किया बल्कि जनपद सदस्यों को उनके मताधिकार से भी वंचित करने का कृत्य किया है। कांग्रेस ने मानपुर जनपद अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के निर्वाचन को अवैधानिक बताते हुए इसे न्यायालय मे चुनौती देने की बात कही है।
•सूचना मे नहीं चुनाव कार्यक्रम का उल्लेख
वहीं इस मामले मे एसडीएम सिद्धार्थ पटेल का कहना है कि जनपद अध्यक्ष व उपाध्यक्ष के निर्वाचन हेतु कार्यक्रम प्रसारित किया गया था। जिसमे अभ्यर्थियों द्वारा नामनिर्देशन पत्र दाखिल करने के लिये प्रात: 10 से 10.30 बजे तक का समय निर्धारित था। इसके जवाब मे कांग्रेस ने 19 जुलाई को अपर कलेक्टर एवं सक्षम प्राधिकारी अशोक ओहरी द्वारा प्रारूप-एक मे जारी सूचना सामने रख दी है, जिसमे 27 जुलाई को 10 बजे से मात्र सम्मिलन आयोजित करने का ही उल्लेख है। पार्टी ने कहा कि उक्त सूचना मे किसी प्रकार के निर्वाचन कार्यक्रम का जिक्र नहीं है। कांग्रेस का कहना है कि नियमत: प्रथम सम्मिलन के बाद ही निर्वाचन की प्रक्रिया शुरू की जाती है। उसका आरोप है कि अधिकारियों ने सदस्यों को धोखे मे रख कर सरकार के प्रति अपनी स्वामी भक्ति प्रदर्शित की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *