मंहगाई एवं मूल्य वृद्धि के खिलाफ बीएमएस का धरना प्रदर्शन 9 को

नौरोजाबाद। आरएसएस का मजदूर संगठन बीएमएस 9 सितंबर को देश के सभी जिला कलेक्टर को मंहगाई एवं बेतहाशा मूल्य वृद्धि के खिलाफ ज्ञापन सौंपेगा आम आदमी मंहगाई एवं बेतहाशा मूल्य वृद्धि की मार से इस कोरोना त्रासदी के काल में गंभीर संकट से गुजर रहा है जीवन यापन करना भी मुश्किल होता जा रहा है, हताशा में है, इस कारण भारतीय मजदूर संघ की अखिल भारतीय कार्यसमिति में निर्णय लिया कि पूरे देश में महगांई के विरूद्ध संघ अब सड़कों पर उतरेगा। आज ओद्योगिक गतिविधियों में गिरावट आई है लागत मूल्यों का लगातार बढ़ती कीमतों, डीजल पेट्रोल की कीमतों में बढ़ोतरी के कारण दैनिक उपयोग एवं उपभोग की वस्तुओं के कीमतों में अप्रत्याशित वृद्धि के कारण आम आदमी की क्रय शक्ति से बाहर निकल रहा है, आवश्यक वस्तु अधिनियम के दायरे से आलू प्याज तेल को बाहर करने के कारण व्यापारी जमा कर क्रतिम कमी बनाकर ऊंचे दामों में बेच रहे हैं, किसानों को मूल्य वृद्धि का फायदा नहीं हो रहा है, सरकार इनकी कीमत तय करे और लागत मूल्य तथा लाभ सब्सिडी किसानों को प्रदान करे, जिससे जमाखोरी पर अंकुश लगाया जा सके।
बीएमएस मांग करता है एक राष्ट्र एक कानून के तहत पेट्रोलियम पदार्थों को जीएसटी के दायरे में लाया जाए, किसानों को मुआवजा देकर सरकार सब्जी, दलहन, तिलहन, रबी एवं खरीफ की उत्पादन बढ़ाने में पर योजना बनाए, मूल्य सरकार तय करे बाजार नहीं। उत्पाद बनाने वाली कंपनियां लागत मूल्य के साथ लाभ मूल्य भी अनिवार्य रूप से अंकित करें। सरकारी, अर्ध सरकारी, सार्वजनिक क्षेत्रों,निजी क्षेत्रों के कामगारों को वेतन वृद्धि करे । भवन निर्माण सामग्री के मूल्यों पर तेजी से वृद्धि होती जा रही है, कीमतों को सरकार नियंत्रित करे, इसी के विरोध में भारतीय मजदूर संघ का औद्योगिक संगठन अखिल भारतीय खदान मजदूर संघ के मार्गदर्शन में एसईसीएल जोहिला क्षेत्र में भारतीय कोयला खदान मजदूर संघ क्षेत्र के सभी खदान मुहानों पर जनजागरण अभियान कर 9 सितंबर को कलेक्टर कार्यालय उमरिया पहुंच कर ज्ञापन में ज्यादा से ज्यादा लोग उपस्थित होकर कार्यक्रम को सफल बनाने की अपील कर रहा है। इसकी जानकारी भारतीय कोयला खदान मजदूर संघ जोहिला क्षेत्र के अध्यक्ष प्रदीप सिंह बघेल द्वारा दी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *