आंगनबाडी केन्द्रों में पोषण जागरूकता गतिविधि आयोजित कर सघन वजन अभियान प्रारंभ

राकेश सिंह
डिंडोरी ।  जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग श्रीमती मंजूलता सिंह ने बताया कि जिलें में महिलाओं और बच्चों के पोषण स्तर में बेहतर सुधार के लिए 30 सितम्बर तक राष्ट्रीय पोषण माह मनाया जायेगा। इसका मुख्य उद्देश्य जन आंदोलन और जनभागीदारी से कुपोषण को मिटाना है। वर्ष 2020 में राष्ट्रीय पोषण माह में अतिकुपोषित बच्चों को चिंहित कर मानिटरिंग करना और किचन गार्डन को बढावा देने के लिए हरी सब्जियों का रोपण करने का अभियान चलाया जायेगा। जिला कार्यक्रम अधिकारी ने बताया कि इस अभियान के अंतर्गत प्रत्येक ऑगनबाडी केन्द्र मे पॉच-पॉच बच्चों का वजन कर चिहिंत अतिगंभीर कुपोषित, चिकित्सीय जटिलता और भूख की जॉच में फैल होने वाले बच्चों को एनआरसी में भर्ती कराया जायेगा या सामुदायिक प्रबंधन में रखा जायेगा। जिला कार्यक्रम अधिकारी ने बताया कि राष्ट्रीय पोषण माह जिलें के 1913 ऑगनबाडी केन्द्रों में निर्धारित कैलेण्डर अनुसार आयोजित की जा रही है।

इस अभियान में पोषण गतिविधियों में सामुदायिक सहभागिता व जनजागरूकता से पोषण व्यवहार परिवर्तन द्वारा कुपोषण का उन्मूलन किया जायेगा। ऑगनबाडी कार्यकर्ता कोविड-19 कोरोना संक्रमण से बचाव संबंधी दिशा निर्देर्शो का पालन करते हुए बच्चों का वजन, उॅचाई तथा लंबाई का मापन कर बच्चों के पोषण स्तर का सर्वे कर रही है। पोषण चिंहाकन के आधार पर बच्चों को ऑगनबाडी केन्द्रों में ही सामुदायिक प्रबंधन (पोषण पुर्नवास) से लाभन्वित किया जायेगा। गंभीर चिहिंत बच्चों को चिकित्सीय जटिलता और  भूख की जॉच में फेल होने पर एनआरसी में भर्ती कराया जायेगा। ऑगनबाडी केन्द्रों में गर्भवती एवं धात्री महिलाओं को पोषक तत्वों से भरपूर भोजन देने की सलाह दी जायेगी। ऑगनबाडी कार्यकर्ता के द्वारा गृह भेट कर महिलाओं को आयरन युक्त भोज्य पदार्थ एवं आयरन कैल्षियम की टेबलेट समय-समय पर लेने तथा बच्चे के जन्म होते ही तुरंत मॉ का स्तनपान कराने की जानकारी भी दी जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *