मोदी और शिवराज के भक्त पार्टी के दगाबाजो के खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर भूख हड़ताल पर बैठेंगे

शहडोल। जिले में पंचायत चुनाव के साथ ही नगरीय निकाय चुनाव की चर्चा और उनसे जुड़े नए नए घटनाक्रमों ने तूल पकड़ रखा है, पहले पंचायत चुनाव के नतीजे सामने आए और फिर नगरीय निकाय चुनाव की गिनती हुई, यही नहीं मतदान से कुछ दिन पहले ही भारतीय जनता पार्टी ने आसपास के अन्य जिलों की तुलना में भाजपा के बागियों और पार्टी के खिलाफ कार्य करने वालों पर बड़ी कार्यवाही की थी।

पार्टी ने लंबी सूची जारी की और दर्जनों को बाहर का रास्ता दिखाया, बावजूद इसके संगठन लगातार मजबूत हुआ और शहडोल से लेकर कटनी और भोपाल में बैठे भारतीय जनता पार्टी के संगठन पदाधिकारियों की कुशल रणनीति पार्टी के सिद्धांतों पर चलने के कारण ही निकाय के अलावा जनपद और जिला पंचायत में भी पार्टी एक बार फिर सफल होती नजर आ रही है।

इधर धनपुरी नगरपालिका चुनावों के दौरान वार्ड नंबर 2 से पार्टी के प्रत्याशी रहे शैलेंद्र सराफ ने मतगणना से ठीक 4 दिन पहले 16 जुलाई को ही एक पत्र संगठन को लिखा था, जिसमें भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष इंद्रजीत सिंह छाबड़ा और उनके समर्थकों द्वारा वार्ड नंबर 2 में भाजपा की बागी व निष्कासित प्रत्याशी के पक्ष में मतदान करने और वोटरों को भाजपा के खिलाफ भड़काने के आरोप लगाए थे, और शैलेंद्र सराफ ने इस बात की पुष्टि भी की थी कि यदि भारतीय जनता पार्टी के नाम पर 5 साल तक सत्ता में रहने और दो.. दो बार जिला अध्यक्ष बन कर फर्श से अर्श तक पहुंचे पूर्व जिला अध्यक्ष इंद्रजीत सिंह छाबड़ा के कारण ही नगर पालिका धनपुरी में भारतीय जनता पार्टी को 28 में से 9 सीटों पर संतोष करना पड़ा। युवा नेता स्पष्ट करते हुए कहा कि उसने मतों की गिनती के पहले ही संगठन को पत्र लिखकर इस पूरे मामले से अवगत कराया था, लेकिन संगठन अन्य के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही तो की लेकिन इंद्रजीत सिंह छाबड़ा और राकेश पांडे सरीके अन्य नेताओं के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की।

युवा नेता ने अपनी पीड़ा व्यक्त करते हुए कहा कि उसे भारतीय जनता पार्टी के संगठन और नीतियों पर पूर्ण विश्वास है, वह प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ ही देश के प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र सिंह मोदी का अन्य भक्त है, और मैंने अपना पूरा जीवन भाजपा की नीतियों और रीतियों को जन जन तक पहुंचाने के लिए समर्पित कर दिया है, उसने कहा कि भाजपा को विभीषणों से मुक्त करने और आने वाले विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी को पुनः विजय दिलाने के लिए यह आवश्यक है कि जिन लोगों ने वार्ड नंबर 2 में आकर भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ प्रचार किया, पैसे खर्च किए, प्रत्याशी को हराने के लिए दिन-रात एक किया, उनके खिलाफ कार्यवाही की जानी चाहिए अन्यथा वह भारतीय जनता पार्टी शहडोल कार्यालय के सामने भूख हड़ताल पर बैठेगा, उसने कहा कि वह पार्टी की साख बचाने के लिए ऐसे लोगों को सामने लाने का बीड़ा उठा चुका है जो पार्टी को मां अपने स्वास्थ्य के कारण गर्त में ले जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed