अर्न्तराष्ट्रीय महिला सशक्तिकरण के अवसर पर जिलास्तरीय कार्यक्रम आयोजित

अर्न्तराष्ट्रीय महिला सशक्तिकरण के अवसर पर जिलास्तरीय कार्यक्रम आयोजित

कटनी – अर्न्तराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर जिलास्तरीय कार्यक्रम का आयोजन बस स्टेण्ड स्थित ऑडिटोरियम में हुआ। जिसमें उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ कन्या पूजन से हुआ। कार्यक्रम में जिला पंचायत प्रधान ममता पटेल, सांकेतिक रुप से एक दिन की कलेक्टर बनीं अर्चना केवट, कलेकटर प्रियंक मिश्रा, पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी भी मौजूद थे। कार्यक्रम में जिला पंचायत की प्रधान ममता पटेल ने महिला शक्ति से आव्हान किया कि समस्याओं का मुकाबला करें। चुनौतियों से कभी पीछे न हटें। बिना मांगे अधिकार नहीं मिलता। प्रत्येक महिला अपने अधिकारों के लिये लड़े और समाज को सशक्त बनाने में अपना योगदान दे। इतना ही नहीं श्रीमती पटेल ने नारी शिक्षा के महत्व को भी बताया। उन्होने कहा कि जब एक नारी शिक्षित होती है, तो दो कुलों को शिक्षित करती है। वह एक लालटेन की तरह होती है, जो स्वयं जलकर प्रकाश फैलाती है। इसलिये हमें हमारी बेटियों की हिम्मत को बढ़ाना चाहिये। बेटे और बेटियों में भेदभाव नहीं करना चाहिये। बेटियों से शासन की योजनाओं का लाभ लेकर आंगे बढ़ने की बात भी श्रीमती पटेल ने अर्न्तराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर आयोजित जिलास्तरीय कार्यक्रम में कही। इस अवसर पर सांकेतिक रुप से एक दिन की कलेक्टर अर्चना केवट ने जिले की महिला शक्ति को स्वयं आत्मनिर्भर बनने का संदेश दिया। उन्होने कहा कि स्वयं आत्मनिर्भर बनें, किसी पर आश्रित ना हों। जिला प्रशासन द्वारा नारी सशक्तिकरण की दिशा में अच्छा कार्य किया जा रहा है। लेकिन हमें स्वयं भी सशक्त होना होगा। कलेक्टर प्रियंक मिश्रा ने भी जिलास्तरीय कार्यक्रम को संबोधित किया। उन्होने कहा कि हमारा नैतिक कर्तव्य है कि हम सभी महिलाओं का सम्मान करें। सबकी भागीदारी से ही समता आ सकती है। नारी सशक्तिकरण और महिलाओं के लिये राज्य शासन द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की जनकारी भी कलेक्टर श्री मिश्रा ने दी। उन्होने कहा कि हमारे प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान महिला सम्मान के सबसे बड़े पुरोधा हैं। उनके मार्गदर्शन में ही इस दिशा में अत्यन्त उपयोगी और महत्वाकांक्षी योजनायें चलाई जा रही हैं। जिलास्तरीय कार्यक्रम को एडिशनल एसपी संदीप मिश्रा ने भी संबोधित किया। उन्होने कहा कि महिलायें अपने अधिकारों के लिये लड़ें। कोई भी ताकत उनसे उनका अधिकार नहीं छीन सकती। पुलिस विभाग द्वारा महिला सुरक्षा की दिशा में किये जा रहे कार्यों की जानकारी भी एएसपी ने दी।अर्न्तराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में बालिका गृह की बालिकाओं द्वारा सांस्कृति कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया। जिसे उपस्थित जनों ने सराहा। साथ ही अपराजिता अभियान के तहत जिन बालिकाओं को आत्मरक्षा के लिये कराते का प्रशिक्षण दिया गया है, उन्होने भी अपनी कला का प्रदर्शन कार्यक्रम में किया।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *