शिशुओं की देखभाल में न हो लापरवाही: कलेक्टर

कलेक्टर ने गहन चिकित्सा कक्ष एवं पीआईसीयू का किया निरीक्षण

(Amit Dubey+8818814739)
शहडोल। कलेक्टर डॉ. सतेन्द्र सिंह ने कुषाभाऊ ठाकरे जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण के दौरान गहन चिकित्सा षिषु इकाई एवं पीआईसीयू वार्ड का निरीक्षण किया। कलेक्टर ने वार्ड इंचार्ज चिकित्सक श्रीमती भावना चौपड़ा एवं एसएनसी प्रभारी चिकित्सक डॉ. सुनील हथगेल से भर्ती शिशुओं के बारे में जानकारी ली। कलेक्टर ने निरीक्षण के दौरान भर्ती शिशुओं के परिजन श्रीमती पूनम पनिका ग्राम लपफदा तहसील गोपहपारू एवं शकीला बेगम वार्ड नम्बर-13 शहडोल तथा श्रीमती रानी सिंह ग्राम करकी से उनके एवं उनके शिशुुओं के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली।
कलेक्टर ने निर्देशित किया कि डिस्चार्ज के समय शिशुओं के परिजन को शिशुओं के देखभाल के संबंध में पम्पप्लेट भी देने के निर्देश वार्ड चिकित्सक को दिए। कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित किया कि जिले के प्राईवेट अस्पतालो का निरीक्षण सिविल सर्जन एवं शिशु रोग विशेषज्ञ के साथ करें और भर्ती शिशुओं की देख-भाल में किसी भी प्रकार की लापरवाही न करें। कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित किया कि उमरिया एवं अनूपपुर जिलो के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एवं सिविल सर्जनो को पत्र लिखकर सूचित करें कि शहडोल का मेडिकल कॉलेज अभी पूर्णत: संचालित नही है एवं जिला चिकित्सालय शहडोल के एसएनसीयू एवं पीआईसीयू की व्यवस्था भी जिला स्तरीय है। इस दौरान कलेक्टर ने ब्लड कल्चर एवं सीआरपी आदि कि टेस्ट की व्यवस्था के बारे में सिविल सर्जन को निर्देशित किया कि मेडिकल कॉलेज शहडोल के पैथालॉजी लैब के इन्चार्ज से चर्चा कर आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करें।
कलेक्टर ने सिविल सर्जन को 1 सप्ताह की एसएनसीयू एवं पीआईसीयू की रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने जिला चिकित्सालय के साईड लैब एवं पीआईसीयू के निर्माण हेतु स्थल का मौका मुआयना किया। कलेक्टर ने कहा कि स्टाफ एवं संसाधनो की कोई कमी नही है और सभी मरीजो का अच्छे से अच्छा उपचार कर उन्हें बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *