सूद का काला कारोबार कर हा बुढ़ार का कालू!

ट्रांसपोर्ट नगरी में खत्म नहीं हो रही सूदखोरी

(अमित दुबे @ 7000656045)
बुढ़ार। एक ओर प्रदेश के पुलिस आलाधिकारी सहित रेंज के मुखिया ने सूदखोरों का आतंक खत्म करने के लिए अभियान चलाने का निर्देश दिया है। दूसरी ओर जिले में सूदखोरों का आतंक खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। सूदखोर लगातार नए-नए तरीकों से अपने कर्जदारों को परेशान करने में लगे हैं। इस बारे में जब भी पुलिस के अधिकारियों से चर्चा की जाती है तो, उनका यही रटा रटाया जवाब होता है कि अगर कोई हमारे यहां शिकायत लेकर आएगा तभी हम कार्रवाई करेंगे। कोयलांचल में सूदखोर संभागीय मुख्यालय सहित ट्रांसपोर्ट नगरी में आज भी सूदखोर सक्रिय हैं।
किराना की आड़ में कारोबार
जिले के धनपुरी थाना क्षेत्र में बीते दिनों पकड़ाये सूदखोर कालू की तर्ज पर ही बुढ़ार तहसील मुख्यालय में राजेश उर्फ कालू किराना दुकान की आड़ में सूद पर पैसे देने का काम करता है, अगर इसकी सहित इसके परिवार की संपत्ति की जांच हो जाये तो, संभवत: जिले के सबसे बड़े सूदखोर के चेहरे से पर्दा उठ सकता है। जानकारों की माने तो, इसका कारण है कि वे अपने छोटे-बड़े काम के लिए अथवा बीमारी के लिए बिना कुछ सोचे समझे इन सूदखोरों से रकम ले लेते हैं, इसके बाद कालू उनसे मूल रकम से कई गुना सूद लेने के बाद भी मूल रकम बचे होने का हवाला देता हैं।
सीआईडी के पाले में है सूदखोर
कालू के गुर्गे खासकर उस समय बैंक परिसर के आस-पास दिखाई देते हैं, जब इन कर्मचारियों का वेतन भुगतान होता है। ट्रांसपोर्ट नगरी में ऐसा कोई व्यक्ति नहीं होगा, जो कालू के इस कारोबार के बारे में नहीं जानता, मजे की बात तो यह है कि अब सूदखोरों का मामला सीआईडी के पाले में है, लेकिन लगभग सप्ताह भर का समय बीतने को है, लेकिन अभी तक शिकायत मिलने के बाद पुलिस द्वारा की गई कार्यवाही के अलावा एक भी कार्यवाही सीआईडी सहित पुलिस द्वारा स्वयं की गई हो यह देखने को नहीं मिली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed