संशय समाप्त: अमकरंटक से होगी विश्वनाथ-रमेश की नई चुनावी शुरूआत

रमेश बने विश्वनाथ के सारथी
एक जुट हुए कांग्रेस के खिबरे हुए सिपाही
संशय समाप्त: अमकरंटक से होगी कांग्रेस नई चुनावी शुरूआत
पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के आगमन के बाद कांग्रेसी में दिखी एकता के बाद कुछ संशय बकरार था, उसे भी कांग्रेसी की टीम ने शुक्रवार को समाप्त करते हुए एक नई चुवानी शुरूआत का आगाज कर दिया है, विश्वनाथ को प्रत्याशी बनाये जाने के बाद प्रशासनिक पद से इस्तीफा देकर आये रमेश ङ्क्षसह का नाम भी उजागर हुआ था, इस बीच चल रही संशय की स्थिति में पटाक्षेप करते हुए रमेश ङ्क्षसह और विश्वनाथ सिंह एक हो गये और अमरकंटक से इनकी नई दोस्ती की शुरूआत होगी।
अनूपपुर। जैसे-जैसे उपचुनाव के लिए नामांकन और मतदान की तारीखें कम होती जा रही है, वैसे-वैसे चुनाव का रोमांच भी बढ़ता जा रहा है, बीते दिनों कमलनाथ के अनूपपुर दौरे के बाद मानो जिले की राजनीति में भूचाल सा गया है, सूत्रों पर यकीन करें तो, इसका असर भाजपा पर इतना पड़ा कि शुक्रवार की सुबह संभवत इसी फिक्र में कैबिनेट मंत्री और भाजपा प्रत्याशी बिसाहूलाल सिंह को स्वस्थ्य परीक्षण के लिए घर पर चिकित्सक तक बुलाने पड़ गये। बहरहाल नई खबर ने पूर्व एसडीएम रमेश सिंह के अपने पद से इस्तीफा देकर कांग्रेस की टिकट के लिए दावा ठोकने वाले मामले और कांग्रेस प्रत्याशी विश्वनाथ सिंह की चिंताओं को खत्म कर दिया है।
कांग्रेस के लिये रहत की खबर 
उपचुनाव को लेकर अनूपपुर कांग्रेस के लिए राहत भरी खबर है कि  कांग्रेस के सभी दावेदार अब कांग्रेस के लिए काम करेगें वहीं सभी दावेदारों में से एक रमेश सिंह पूर्व अपर कलेक्टर शहडोल जिनके साथ बिसाहूलाल कुल्हाडा, उमाकांत उईके, ममता सिंह, एक साथ होकर रमेश सिंह के लिए दावेदारी कर रहे थे व टिकट के लिए भोपाल कमलनाथ के निवास तक कूच किए थे, लेकिन सर्वे के अनुसार विश्वनाथ सिंह को टिकट मिला और जो चुनावी मैदान में कांग्रेंस की तरफ से चुनाव में लडेगें, जिसको लेकर अब सभी दावेदार और कांग्रेस के प्रत्याशी एक साथ एक मंच में दिखेंगे।
कांग्रेस को एक और योगदान 
पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ बुधवार को अनूपपुर आये थें, जहां  विश्वनाथ के पक्ष में जनता से आशीर्वाद की अपील की थी, कार्यक्रम के दौरान रमेश सिंह एवं अन्य दावेदार कार्यक्रम में शामिल नही हुए, ऐसे कयास लगाये जा रहे थे कि रमेश सिंह निर्दलीय चुनाव लडेगें, लेकिन कमलनाथ के कार्यक्रम में विश्वनाथ को अपार जनसमर्थन मिलने के कारण रमेश सिंह अब कमलनाथ के साथ है और विश्वनाथ को जिताकर कमलनाथ की सरकार बनाने में योगदान देगें।
सभी करंगे विश्वनाथ का प्रचार
पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति, विधायक फुन्देलाल सिंह मार्को, विधायक सुनील सराफ, कांग्रेस जिलाध्यक्ष जयप्रकाश अग्रवाल की अगुवाई में सर लगन पैलेस में प्रेस वार्ता का आयोजन करते हुए सभी कयासों पर विराम लगाते हुए रमेश सिंह को कांग्रेस में लाने का काम किया है, रमेश के आने से कांगे्रस को मजबूती मिली है जो कि भाजपा का किला ढहाने में सफल हो सकते है। कल अमरकंटक में नर्मदा मां के दर्शन कर सभी एक साथ चुनावी शंखनाद का आगाज करते हुए चुनावी महासंग्राम में शामिल होकर विश्वनाथ के लिए एक नई शुरूआत करेंगे।
नर्मदा की गोद से होगी दोस्ती
कांग्रेस के लगभग सभी दावेदार विश्वनाथ को प्रत्याशी बनाये जाने से नाराज चल रहे थे, जिसके बाद रमेश ङ्क्षसह के साथ सभी दावेदार जुडकर एक अलग पहचान क्षेत्र में बनाने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन वर्षो से कांग्रेसी रहे सभी दावेदारों ने पदाधिकारियों की समझाइश के साथ शुक्रवार को एक जुट हो गये, सभी ने फैसला लिया कि अमरकंटक से विश्वनाथ और रमेश सिंह के साथ अन्य की दोस्ती पुन: लौट आयेगी और एक साथ मिलकर कांग्रेस की नई चुनावी शुरूआत करेूंगे।
इनका रहा सफल योगदान
शुक्रवार को कांग्रेस के एकजुटता कार्यक्रम में तथा इस दोस्ती में अपनी अहम भूमिका अदा करने वालों में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति, विधायक फुंदेलाल सिंह, सुनील सराफ, जिलाध्यक्ष जय प्रकाश अग्रवाल, वरिष्ठ अधिवक्ता संतोष अग्रवाल, प्रदेश सचिव प्रेमकुमार त्रिपाठी, कांग्रेसी नेता शंकर प्रसाद शर्मा, भगवती शुक्ला, वरिष्ठ अधिवक्ता चंद्रकांत पटेल, अधिवक्ता अखिलेश ङ्क्षसह, पूर्व नपा अध्यक्ष रामखेलावन राठौर,ब्लाध्यक्ष करतार ङ्क्षसह, सत्येन्द्र स्वरूप दुबे, किसान कांग्रेस जिलाध्यक्ष डॉ. राज तिवारी, कार्यवाहक अध्यक्ष संतोष पांडेय, कार्यवाहक अध्यक्ष मयंक त्रिपाठी, अधिवक्ता चंद्रभूषण त्रिपाठी, पंकज अग्रवाल, किसान कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री वेदक पटेल, राजकुमार शुक्ला सहित अन्य कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *