डॉ० अंशुमन सोनारे ने दृढ़ इक्छाशक्ति से कोरोना के कठिन परिस्थितियों में भी दी सेवाएं


शहडोल। 30 जून 2021- कहते हैं आत्मविश्वास और दृढ़ इच्छाशक्ति इंसान के अंदर हो तो इंसान के लिए कुछ भी कर पाना असंभव नहीं होता। उसी का एक अनुपम उदाहरण है जिला के टीकाकरण अधिकारी डॉ० अंशुमन सोनारे जो कोरोना संक्रमण की कठिन परिस्थितियों में भी अपने कर्तव्यपथ मार्ग पर चलते हुए अपनी सेवाएं दी। डॉ० सोनारे ने कोरोना संक्रमण नियंत्रण की दिशा में मरीजों की जान बचाने हेतु कई प्रकार के उपाय अपनाएं तथा कोरोना वायरस को काबू पाने में सफलता अर्जित की। इसी दिशा में स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से कोरोना वायरस नियंत्रण करने के प्रयास कठिन परिस्थितियों में भी उन्होंने जिले के विभिन्न जनपद पंचायतों में भ्रमण कर कोरोना वायरस से लोगों को जागरूक किया तथा कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में जिले स्तर से टीम गठित कर कोरोना संक्रमित मरीजों को कोविड वार्ड में भर्ती कराया तथा समय-समय पर उनकी निगरानी कर दवाई, भोजन इत्यादि की व्यवस्था कराना किसी प्रेरणा से कम नहीं है। डॉ अंशुमन और उनकी टीम ने कोरोना संक्रमण के दौरान महती भूमिका का निर्वहन बखूबी किया जो बहुत ही सराहनीय है। उन्होंने धैर्य और संयम के साथ कोरोना महामारी बचाव के लिए जिस मेहतन एवं लगन से कार्य किया है वह अनुकरणीय है और सभी के लिए प्रेरणास्त्रोत है। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ० अंशुमन सोनारे का कहना है कि मन में विश्वास हो तो कुछ भी कर पाना संभव है, मैंने ऐसी सोच को अपनाते हुए अपनी सेवाएं मानव के प्राण बचाने हेतु प्रयोग किया है तथा अपने हौसलों के साथ जनसेवा की भावना आत्मसात किया हैै।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed