रीवा से गिरफ्तार हुआ नशे का सौदागर

नशीली दवाओं के का जखीरा हुआ बरामद

(अजय जायसवाल)
शहडोल। मुख्यमंत्री प्रदेश के माफियाओं के नेस्तनाबूत की घोषणा पर पुलिस अधीक्षक द्वारा नशे के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान के तहत कोतवाली क्षेत्रांतर्गत मुखबिर क सूचना के आधार पर सौरभ श्रीवास्तव उर्फ अमन, भूपेन्द्र प्रजापति, मृगेन्द्र सिंह बरगाही, शारदा प्रसाद तिवारी एवं अनिल प्रजापति को गिरफ्तार कर कुल 330 नग नशीले इंजेक्शन जब्त कर उक्त आरोपियो के विरूद्ध कोतवाली में ड्रग कंट्रोल अधिनियम एवं एनडीपीएस एक्ट के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया था।
आरोपियों से पूछताछ करने पर इनके द्वारा नशीली ड्रग्स रीवा शहर स्थित विद्याभूषण मेडिकल स्टोर में दबिश देकर तलाशी लिये जाने पर मेडिकल स्टोर से 3200 नग एल्प्रोजोलम टैबलेट, 90 नग पेन्टाजोसिन इंजेक्शन, 200 नग एविल, 25 नग फेनार्गन, 864 नग स्पॉस ट्रानकेन, 1440 नग पीवॉन स्पॉस एवं 720 नग स्पॉस्मो प्रॉक्सीवॉन प्रतिबंधित नशीली दवाईयां जब्त करने में महत्वपूर्ण सफलता प्राप्त की गई है।
उक्त प्रतिबंधित दवाएं आरोपियों द्वारा बगैर किसी चिकित्सक की पर्ची के नशा करने के उद्देश्य पूर्ति के लिए ई गुना अधिक दाम में बेची जा रही थी, जिन्हें कोतवाली पुलिस द्वारा रंगे हाथों पकड़ा गया है। आरोपियों से पूछताछ में पता चला कि उक्त आरोपीगण पूरे रीवा-शहडोल अंचल में नशे की टेबलेट व इंजेक्शन की लंबे समय में बड़े पैमाने पर सप्लाई कर रहे थे। पुलिस द्वारा मेडिकल स्टोर के संचालक हरिसिंह पिता चंद्रभूषण सिंह उम्र 62 साल निवासी गुड रोड रीवा एवं राजीव सिंह पिता राकेश सिंह उम्र 55 वर्ष निवासी गुढ़ चौराहा रीवाके विरूद्ध ड्रग कंट्रोल अधिनियम एवं एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्यवाही कर गिरफ्तार किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *