कॉलोनियों में गंदगी के बीच कर्मचारी रहने को मजबूर

संतोष कुमार केवट

अनूपपुर। एसईसीएल के जमुना कोतमा क्षेत्र का सिविल विभाग अपने कारनामों के लिए पहले से चर्चित है। किन्तु नवागत क्षेत्रीय स्टाफ अधिकारी सिविल जब पदस्थ हुए तब श्रमिकों को लगा था की शायद सिविल कार्यों में कुछ सुधार होगा, किन्तु इनके पदस्थ होते भ्रष्टाचार को और अधिक बढ़ावा देने के स्पष्ट संकेत मिलने शुरू हो गए हैं। पूरे क्षेत्र में झाड़ी, सूखे पत्ते और गंदगी का भरमार है। क्षेत्र के सभी इकाइयों में गर्मी का समय है। झाड़ी, सूखे पत्ते को साफ करवाना चाहिए ताकि आग न लग सके। कुछ कॉलोनियों के साफ सफाई के वर्क आर्डर भी हुए किन्तु कोई काम नहीं हो रहा है। पानी की टंकिया जिन्हे 6 माह में एक बार साफ होना चाहिए और उसी पानी को कर्मचारी पीने को मजबूर है। आमाडांड ओसीपी खान में लाखों रूपये मूल्य का सड़क का बिल पास करने की स्टाफ अधिकारी द्वारा प्रयास किया जा रहा है। जबकि स्टाफ अधिकारी को स्वयं इसकी जांच कर बिल भुगतान रोकना चाहिए ऊपर से बिल पास करवाने का दबाव अपने पद का दुरूपयोग कर किया जा रहा है। आपके विरुद्ध मंत्रालय, कोल इण्डिया और एसईसीएल के उच्च अधिकारियों के अतिरिक्त सीवीसी, सीबीआई और सतर्कता विभाग सभी से साक्ष्य के साथ आपके विरुद्ध शिकायत किया जावेगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed