पिछड़ा वर्ग के लोगों के सामाजिक उत्थान में लगे व्यक्तियों को प्रोत्साहन मिले

विक्रांत तिवारी
शहडोल । पिछड़ा वर्ग कल्याण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री रामखेलावन पटेल ने कहा है कि राज्य शासन की मंशा है कि पिछड़ा वर्ग के लोगों के सामाजिक एवं शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले व्यक्तियों को प्रोत्साहित किया जाये। इनके प्रोत्साहन के लिये राज्य सरकार ने पुरस्कार भी घोषित किये हैं। उन्होंने कहा कि यह पुरस्कार प्रतिवर्ष चयनित व्यक्तियों को समय पर मिले, विभाग को इस दिशा में प्रभावी प्रयास करना चाहिये। राज्य मंत्री श्री पटेल आज मंत्रालय में वर्ष 2017-18 के लिये गठित ज्यूरी को संबोधित कर रहे थे। ज्यूरी द्वारा श्री रामजी महाजन पिछड़ा वर्ग सेवा राज्य पुरस्कार, महात्मा ज्योतिबा फुले एवं सावित्रीबाई फुले पुरस्कार के नामांकितों पर चर्चा की गई। ज्यूरी की बैठक में सदस्य विधायक श्री रामलल्लू वैश्य और विधायक श्री राकेश गिरी भी मौजूद थे।
बैठक में सचिव पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण श्री एम.के. अग्रवाल ने बताया कि विभाग द्वारा दिया जाने वाला स्व. रामजी महाजन स्मृति पुरस्कार पिछड़े वर्ग के उत्थान एवं विकास के लिये उत्कृष्ट कार्य करने वाले 16 समाज-सेवियों को दिया जाता है। इनमें 8 पुरुष और 8 महिलाएँ होती हैं। महात्मा ज्योतिबा फुले पिछड़ा वर्ग सेवा राज्य पुरस्कार प्रदेश के एक पुरुष समाज-सेवी को दिया जाता है, जिसके द्वारा पिछड़े वर्गों में व्याप्त सामाजिक कुरीतियों, अंधविश्वास को दूर करने, सामाजिक समरसता एवं समाजिक संगठन को सुदृढ़ करने के लिये कार्य किया हो। सावित्रीबाई फुले पिछड़ा वर्ग सेवा राज्य पुरस्कार प्रदेश की एक ऐसी महिला समाज-सेवी को दिया जाता है, जिसके द्वारा पिछड़े वर्ग की शिक्षा एवं महिलाओं की स्थिति के उत्थान के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य किया हो। ज्यूरी के सदस्यों ने दिये जाने वाले पुरस्कार के संबंध में अपने विचार रखे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *