उमरिया जिले के पतौर मे ईओडब्ल्यू का छापा

 

दो लाख नगदी समेत कई,दस्तावेज व लगभग 3 करोड़ का समान हुआ जप्त

मानपुर से जय प्रकाश शर्मा की रिपोट

शहडोल/मानपुर।उमरिया जिले के जनपद पंचायत मानपुर के ग्राम पतौर मे आय से अधिक संपत्ति मामले में बीते सप्ताह गुरुवार की सुबह ईओडब्लू की 10 सदस्यीय रीवा टीम ने बड़ी कार्यवाही की है। सहकारी समिति सिगुडी़ के प्रबंधक राम सुवन गुप्ता के ग्राम पतौर स्थित निजी मकान में एवं मानपुर के मकान मे दबिश दी है,इस दौरान बताया गया है कि प्रबंधक रामसुवन गुप्ता के मकान से 2 लाख 10 हजार नगदी ,5 लाख के जेवरात,18 लाख का बीमा पॉलिसी,1,50.000 की एफ डी,1 नग अर्टिका कार,और 2 मोटरसाइकिल, पतौर एवं मानपुर मे मकान सहित जिसकी कीमत 70 से 80 लाख आंकी गई है एवं भूमि संबंधी दस्तावेज सहित क़ई अन्य दस्तावेज मिले है, गुरुवार की सुबह 6 बजे ईओडब्लू की 10 सदस्सीय टीम के द्वारा कार्यवाही की है।इस कार्यवाही में मुख्य रूप से निरीक्षक प्रवीण चतुर्वेदी, निरीक्षक सज्जन सिंह परिहार,उप निरीक्षक आशीष मिश्रा,उप निरीक्षक सीएल रावत,उपनिरीक्षक गरिमा त्रिपाठी,एएसआई संतोष कुमार पांडे,आरक्षक घनश्याम त्रिपाठी,रामजी पांडे,सत्यनारायण मिश्रा,पुष्पेंद्र पटेल, धनंजय सिंह,महिला आरक्षक पूनिका सिंह है।

 

गोपनीय तरीके हुई शिकायत

इस मामले में बताया गया कि गोपनीय तरीके से इनके विरुद्ध शिकायत की गई थी,जिसके बाद विधिवत एफआईआर पंजीबद्ध किया गया है,जिसके बाद ईओडब्ल्यू रीवा ने कार्यवाही को अंजाम दिया है।

यहां भी होना चाहिए कार्यवाही

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार उपरोक्त व्यक्ति का भाई संतोष गुप्ता भी 2012 मे फर्जी अंकसूची लगाकर पिछले 5 साल तक सहकारी समिति मर्यादित गढ़पुरी मे प्रबंधक के पद पर पदस्थ था। और जमकर किसानो के साथ धांधले बाजी एवं गरीबो के राशन मे डाका डालकर अच्छी खासी मोटी रकम तैयार कर मानपुर में अपने पत्नी के नाम स्टेट हाइवे मे 70 से 80 लाख का मकान बनवाया गया है और किराये पर चला रहा है ।जब किसानो और गरीबो हक मारते एवं फर्जी मार्कशीट लगाकर नौकरी करते सुनकर उमरिया निवासी के द्वारा कलेक्टर महोदय उमरिया एवं कमिश्नर महोदय के यहां जनसुनवाई में आवेदन देकर निष्पक्ष जांच कराने की मांग की गई थी जिस पर जांच के दौरान फर्जी अंकसूची निकली जिससे सहकारिता आयुक्त उमरिया के द्वारा 31/03/2016 को आदेश दिया गया था की उपरोक्त व्यक्ति की शैक्षणिक योग्यता फर्जी है जोकि यह व्यक्ति लिपिक/लेखापाल के पद पर पदस्थ नहीं रह सकता है इसको तत्काल पद से पृथक किया जाए।बाद में पद से तो पृथक कर दिया गया लेकिन आज भी सहकारिता विभाग के सहयोग से अपने कार्य पर पदस्थ है।और मोटी रकम जुटाई जा रही है।

पार्टी का चोला ओढ़ा है युवा मोर्चा का उपाध्यक्ष…!

सूत्रों से यह भी जानकारी मिली है कि सहकारी समिति मर्यादित सिगुडी़ के प्रबंधक का सुपुत्र राजकुमार गुप्ता मानपुर पार्टी युवा मोर्चा मंडल का उपाध्यक्ष भी है। और पिता रामसुवन गुप्ता एवं चाचा संतोष गुप्ता के काले कारनामे को छुपाने के लिए हमेशा पार्टी के कार्यक्रम में अपनी उपस्थिति बनाए रखता रहा ताकि पिता और चाचा के काले कारनामे उजागर न हो सके। लेकिन अंत: पिता का तो उजागर हो गया चाचा का अभी बाकी है। ऐसे कई सफेद पोश नेताओ ने राजनीति की आड़ में चांदी काट रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *