भारत-चीन सीमा पर फायरिंग : दोनो देशो के बीच बढ़ा तनाव

लेह। भारत और चीन के बीच लगातार तनाव बढ़ता जा रहा है अभी कुछ देर पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस संदर्भ में बयान जारी किए है। सूत्रों के मुताबिक पूर्वी लद्दाख सेक्टर में एलएसी पर गोलीबारी की घटना हुई है। वर्ष 1975 के करीब पांच दशक बाद यहां पर दोनों सेनाओं के बीच पहली बार फायरिंग की घटना सामने आई है। वहीं, इस घटना से बौखलाए चीन ने उल्टा भारत पर ही उकसाने का आरोप लगाते हुए इसे जवाबी कार्रवाई बताया है।

ताजा जानकारी के मुताबिक भारत-चीन के बीच लद्दाख में सीमा पर जारी तनाव के बीच सोमवार-मंगलवार की रात को एलएसी के पास दोनों देशों के सैनिकों के बीच फायरिंग की घटना हुई है। इस संबंध में केंद्र सरकार के उच्च पदस्थ सूत्रों का कहना है कि फिलहाल एलएसी पर हालात नियंत्रण में हैं। वहीं, भारतीय सेना के सूत्रों ने इस घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि चेतावनी देने के लिए कुछ फायरिंग की गई थी।

वहीं, देर रात चीनी रक्षा मंत्रालय और चीन की पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी के पश्चिमी थियेटर कमान के प्रवक्ता कर्नल झांग शुइली ने इस संबंध में बयान जारी कर उल्टा भारत को ही इस फायरिंग के लिए जिम्मेदार ठहराया। बयान के मुताबिक भारतीय सैनिकों द्वारा कथित उकसावे की कार्रवाई की गई, जिसके चलते चीनी सैनिकों द्वारा जवाबी कार्रवाई की गई। शुइली ने आगे आरोप लगाया कि सोमवार को भारतीय सेना ने अवैध रूप से पैंगोंग त्सो झील के दक्षिणी किनारे के नजदीक स्थित शेनपाओ पहाड़ में एलएसी को पार किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *