छोटे दुकानदारों व व्यापारियों का उत्पीड़न करना एकदम गलत-जिला शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मिथलेश जैन एडवोकेट छोटे दुकानदारों के चालान काटकर और दुकानें सील करके मोटी रकम वसूली कर राजस्व उगाही का लगा आरोप 

छोटे दुकानदारों व व्यापारियों का उत्पीड़न करना एकदम गलत-जिला शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मिथलेश जैन एडवोकेट

छोटे दुकानदारों के चालान काटकर और दुकानें सील करके मोटी रकम वसूली कर राजस्व उगाही का लगा आरोप 

कटनी॥ जिला शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मिथलेश जैन एडवोकेट ने कहा है कि कोविड-19 को फैलने से रोकना निश्चित तौर पर बहुत जरूरी है और इसके लिए बाजारों में सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन कराना भी बेहद आवश्यक है। लेकिन कोविड-19 प्रोटोकॉल के नाम पर छोटे दुकानदारों व व्यापारियों का उत्पीड़न करना एकदम गलत है। राज्य के अलग-अलग शहरों से जो सूचनाएं मिल रही हैं, उन्हें देखकर ऐसा लगता है, जैसे राज्य सरकार छोटे दुकानदारों के चालान काटकर और दुकानें सील करके मोटी रकम वसूली कर राजस्व उगाही करना चाहती है। वहीं छोटे दुकानदारों को बुरी तरह से भयभीत करना चाहती है और ऐसा माहौल बनाना चाहती है ताकि सरकारी अफसर और कर्मचारी कोविड-19 प्रोटोकॉल के नाम पर दुकानदारों का उत्पीड़न कर सकें। उन्होने कहा है कि बीते 2 जून को ही सिर्फ भोपाल में 319 दुकानें सील की गई और 208 दुकानों पर जुर्माना लगाया गया। इसी तरह की स्थिति दूसरे शहरों के साथ-साथ कटनी में भी है, जबकि सरकार और अधिकारियों को साफ पता है कि पिछले लगभग डेढ़ महीने से लॉकडाउन के कारण दुकानें बंद रहने से व्यापारियों को बहुत ज्यादा घाटा हुआ है। उनके यहां काम करने वाले छोटे कर्मचारियों की नौकरी चली गई है। राज्य सरकार गिद्ध की तरह आपदा में राजस्व कमाने का अवसर खोजने में लगी है। लेकिन कांग्रेस पार्टी ऐसा नहीं होने देगी। उन्होंने कहा कि जरूरत इस बात की है कि बाजार खोलने के नियम एकदम स्पष्ट व व्यवहारिक बनाए जाएं नियम बनाने में व्यापारियों से भी परामर्श किया जावे और अगर कोई दुकानदार भूल से नियमों का उल्लंघन करता है तो उसे समझाइश दी जाए, लेकिन किसी भी सूरत में चालान काटना या सीलिंग करना मध्य प्रदेश को पुलिस स्टेट बना देने के बराबर है। लॉकडाउन के दौरान यह भी देखा गया है कि पुलिस ने लोगों की मदद तो की लेकिन दूसरी ओर आम नागरिकों और यहां तक कि मरीजों के साथ तक ज्यादती की है। एक लोकतांत्रिक देश में किसी भी सूरत में नागरिक अधिकारों का हनन नहीं होना चाहिए। अगर सरकार ने छोटे व्यापारियों का उत्पीड़न नहीं रोका तो कांग्रेस का कार्यकर्ता जमीन पर उतर कर हर तरह के संघर्ष के लिए तैयार है। बेहतर होगा सरकार ऐसी स्थिति ना आने दे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *