नवीन सामुदायिक स्वच्छता परिसर निर्माण में हीला हवाली

पीएचई एसडीओ सीसी जारी करने में बन रही रोड़ा

कार्य पूरा करने में सोहागपुर जनपद आगे, अन्य

जनपदों में अभी भी कार्य अधूरे

 

शहडोल। जिले में करीबन 200 नवीन सामुदायिक स्वच्छता परिसर निर्माण करने की स्वीकृति दी गई थी। जिसमें सोहागपुर जनपद स्वीकृत सभी 39 स्वच्छता परिषद का कार्य पूरा कर लिया है। लेकिन अन्य जनपदों में अभी भी कुछ कार्य अधूरे बने हुए हैं, जबकि इसमें 7 करोड़ से अधिक की राशि खर्च हो चुकी है। सोहागपुर जनपद में कार्य पूरे हो चुके हैं लेकिन सीसी जारी करने में पी.एच. ई.एसडीओ सुश्री गुप्ता रोड़ा बनी हुई है। निर्माण के कार्यो की सी सी मिल चुकी है। उसकी जानकारी भी उनको स्वयं जाकर जनपद के अधिकारियों ने दे दी है और उसकी पाँवती भी एसडीओ द्वारा दे दी गई है, लेकिन आज तक सीसी जारी करने में लगातार आनाकानी कर रही है, जबकि 56 हजार रुपये का सबमर्सिबल पंप लगवाने के बाद भी मूल्यांकन नहीं किया जा रहा है।
विभाग कर रहा मनमानी
सोहागपुर जनपद के सभी 39 नवीन स्वच्छता परिसर पूरे कर लिए गए हैं या कार्य महीनों से पूरे हैं। अब जनपद के अधिकारी पीएचई विभाग के एसडीओ सुश्री गुप्ता मैडम के ऑफिस के चक्कर काट रहे हैं। लेकिन पीएचईएसडीओ मानने को तैयार नहीं है,जबकि नवीन स्वच्छता परिसर निर्माण के लिए कलेक्टर द्वारा प्रशासकीय स्वीकृति दी गई है और तकनीकी स्वीकृति आरईएस द्वारा जारी किया गया है इसके बाद भी विभाग मनमानी पर उतारू है। इतना ही नहीं पीएचईएसडीओ सुश्री गुप्ता मैडम द्वारा जनपद के कर्मचारियों को भला-बुरा भी कहा गया है, इसके बाद भी आज तक उनका कोई इंजीनियर स्वच्छता परिसर में बनाए गए बोरवेल का अवलोकन करने नहीं जा रहा है। जिस पर जनपद के कर्मचारी निराश भी है जबकि नवीन सामुदायिक स्वच्छता परिसर निर्माण के लिए शासन स्तर से विशेष प्रयास किए गए हैं और उसको पूरा करने के लिए तमाम प्रशासनिक अधिकारी जुटे रहे लेकिन यहां कलेक्टर के प्रशासनिक स्वीकृति देने के बाद भी पीएचई एस. डी.ओ. हावी है। जनपद के अधिकारियों के बात सुनने के लिए तैयार नहीं है। जबकि सोहागपुर में 39 के 39 स्वच्छता परिसर के कार्य पूर्ण हो चुके हैं।
नहीं हो रहा मूल्यांकन
जयसिंहनगर में सामुदायिक स्वच्छता परिसर पूर्ण करने का दावा किया जा रहा है जबकि ऐसा है नहीं। जयसिंहनगर में 41 में से 41, बुढ़ार में 48 में से 48 पूर्ण हो चुके हैं गोहपारू में 33 मे से 31, ब्यौहारी में 39 मे से 36 पूर्ण हो चुके हैं। लेकिन जो कार्य पूर्ण हो चुके हैं उसकी सीसी जारी नहीं हो रही। जिसके लिए रात-दिन मेहनत करके निर्माण कार्य कराने वाले पंचायत व जनपद के अधिकारी-कर्मचारी परेशान है। बताया गया है कि नवीन सामुदायिक स्वच्छता परिसर में 56000 में बोर कराया गया है, जिससे वहां पानी की उपलब्धता बनी रहे लेकिन 56000 का मूल्यांकन करने के लिए पीएचई एसडीओ तैयार नहीं है, जबकि मैडम को लिखित रूप से पत्र भी दिया गया है, पत्र की पावती भी है पर मैडम यह कार्य करने को पता नहीं क्यों सहमत नहीं हो रही है, जबकि यह कार्य में एसबीएम मद से दो लाख दस हजार से 15 वें वित्त से 90,000 हजार व मनरेगा से 56000 खर्च किए गए हैं, जो खुली किताब है, लेकिन इतने के बाद भी पीएचई एसडीओ जनपद के अधिकारियों के पत्र की अवहेलना कर रही है। नवीन सामुदायिक स्वच्छता परिसर के निर्माण में सोहागपुर जनपद की भूमिका सराहनीय रही है, उसके 39 नवीन सामुदायिक स्वच्छता परिषद के साथ बोरवेल खनन का पानी का भी इंतजाम कर दिया गया है लेकिन सीसी के लिए अभी भी इंतजार है जबकि अन्य जनपदों में अभी भी कुछ कार्य अधूरे हैं लेकिन दावा पूरा होने का किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed