यहां है मगरमच्छ की दहशत सैकड़ो ग्रामीण परेशान

(बरही से अजय वर्मा की रिपोर्ट)

कटनी/बरही @ जिले से लगभग 55 किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत करौंदी खुर्द में मगरमच्छ की उपस्थिति से ग्रामीणों में चिंता बनी हुई है तथा लोगों में दहशत का माहौल है । जानकारी के अनुसार विगत दिवस अच्छी बारिश के चलते नदी नाले उफान पर थे जिसके द्वारा मगरमच्छ की आवक ग्राम पंचायत करौंदी खुर्द में हुई जिसे ग्रामीणों ने देखा । ग्रामीणों के अनुसार मगरमच्छ ग्राम के ही मालगुजार के तालाब में दो या तीन की संख्या में देखे जा सकते हैं, जिसकी सूचना वन अमले को दी गई । वन अमला के द्वारा मामले को संज्ञान में लिया गया ।

रेस्क्यू करने पहुंचा वन अमला, खाली हाथ लौटा

मगरमच्छ की दहशत से ग्रामीणों को निजात दिलाने मगरमच्छ का रेस्क्यू हेतु वन विभाग की पूरी टीम अपने दल बल के साथ ग्राम पंचायत करौंदी खुर्द के तालाब में पहुंचा एवं मगरमच्छ की उपस्थिति का जायजा लिया। किंतु लगभग 2 घंटे तक मगरमच्छ के दिखाई ना देने के कारण वन विभाग के अमले को खाली हाथ ही वापस लौटना पड़ा । जानकारी के अनुसार उक्त तालाब में पानी अधिक होने के कारण तथा झाड़ियों के कारण मगरमच्छ कहीं भी दिखाई नहीं दिया । पानी में मगरमच्छ का रेस्क्यू करना घातक सिद्ध हो सकता था जिसके चलते रेंजर जी के सक्सेना ने मगरमच्छ का रेस्क्यू आगामी समय में करने का निर्णय लेते हुए अपने कर्मचारियों की तैनाती तालाब के किनारे लगाई है, दिखाई देने के उपरांत मगरमच्छ का रेस्क्यू किया जाएगा ।

कोरोना से बचाव व मास्क लगाने दी नसीहत

मगरमच्छ को देखने, रेस्क्यू टीम की उपस्थिति के कारण तालाब के आसपास ग्रामीणों की भीड़ अचानक बढ़ गई। ग्रामीणों के द्वारा वर्तमान में चल रहे कोरोना संक्रमण को भी अनदेखा करते हुए बिना मास्क लगाए व उचित दूरी का पालन ना करते हुए भीड़ इकट्ठा किए हुए थे जिस पर रेंजर जी के सक्सेना के द्वारा लोगों को मास्क लगाने व उचित दूरी बनाए रखने की नसीहत दी । तालाब लबालब था, जिससे मगरमच्छ का रेस्क्यू करना मुश्किल समझ में आ रहा था । रेंजर के अधिकारी सक्सेना द्वारा तालाब के देखरेख करने वाले को तालाब की मेढ़ खोलकर तालाब का पानी कुछ खाली करने का निर्देश दिया । वन विभाग के अमले में रेंजर जी के सक्सेना, डिप्टी रेंजर रामयश मिश्रा, पंकज चतुर्वेदी, महादेव शर्मा, बबलू हेंडरी, प्रवीण आदि उपस्थित थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *