मानसिक रूप से तनाव में हूं, कुछ होता है तो सीईओ जिम्मेदार

मानपुर सीईओ पर लगे प्रताडऩा के आरोप, अपमानित करते हैं सीईओ

उमरिया। जिले की जनपद पंचायत मानपुर जनपद मुख्यालय की ग्राम पंचायत में हुए भ्रष्टाचार पर जहां जनपद सहित जिले में बैठे अधिकारियों ने आंखें मूंद रखी है, वहीं ग्राम पंचायत सेहरा टोला सचिव कमल सिंह ने सीईओ पर प्रताडऩा का आरोप लगाया है, सचिव ने बताया मई-जून का वेतन न मिलने के कारण मेरी आर्थिक स्थिति काफी कमजोर हो चुकी है, एक ओर शासन द्वारा कोविड-19 महामारी के चलते गाइडलाइन जारी की गई कि सभी कर्मचारियों का वेतन समय पर भुगतान करें, लेकिन मानपुर सीईओ द्वारा लगातार मेरे साथ प्रताडऩा करते हुए मुझे परेशान करने का काम किया जा रहा है, 2 माह से वेतन रोक देने से मेरी आर्थिक स्थिति काफी कमजोर हो चली है।
कहां से करूं भरण-पोषण
सचिव ने कहा कि मैं अपने बच्चों को कहां से खिलाऊं भरण-पोषण करने भी मुझे कठिनाई पड़ रही है, बच्चों के लिए कपड़े व घर में भोजन की भी व्यवस्था करनी पड़ती है, साथ ही रक्षाबंधन का त्यौहार है, लेकिन मैं रक्षाबंधन का त्योहार होते हुए भी क्या करूं, मानसिक प्रताडऩा के चलते कहीं मैं आत्मघाती कदम न उठा लूं, जब भी मैं मीटिंग जाता हूं, तो मुझे जातिगत अपमानित किया जाता है, जबकि मेरे द्वारा ग्राम पंचायत में चल रहे हितग्राही मूलक योजना एवं सामूहिक कार्यों को देखकर समय सीमा में कार्य पूरा करता हूं, इसके बावजूद मेरा वेतन नहीं दिया जा रहा है, जो न्याय संगत नहीं है।

मानपुर पंचायत में भ्रष्टाचार का जिन्न बंद बोतल में

जिम्मेदार होंगे सीईओ
सचिव कमल सिंह ने बताया कि कार्यालय का पत्र क्रमांक 356 22 मई 2020 को मिला, जिसमें में समय सीमा पर उसका जवाब दिया, इसके बावजूद मुझे प्रताडि़त किया जा रहा है, सीईओ द्वारा जुलाई में मुझे 13000 हजार रुपए दिया गया, जो लोन में चला गया और खाते में होल्ड लगने के कारण मुझे नहीं मिला, सचिव का कहना है कि मैं काफी मानसिक रूप से तनाव में हूं, यदि किसी तरह से कोई बात सामने आती है तो, सारी जिम्मेदारी जनपद पंचायत सीईओ मानपुर की होगी।
इनका कहना है…
सुरेन्द्र तिवारी
अभी मैं गाड़ी चला रहा हूं, इस संबंध में मुझे परेशान मत करो, काम न करने को लेकर पेमेंट रोका गया है।
सीईओ
मानपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *