मै शहर का विधायक नही पर नगरनिगम क्षेत्र का निवासी हूँ -संजय सत्येन्द्र पाठक कटनी नगर निगम क्षेत्र में जल की समस्या के निराकरण के लिए नगर निगम पहुचे विधायक संजय सत्येन्द्र पाठक , कर्मचारियों एवं अधिकारियों कों दिए आवश्यक दिशा निर्देश और सुझाव

मै शहर का विधायक नही पर नगरनिगम क्षेत्र का निवासी हूँ -संजय सत्येन्द्र पाठक
कटनी नगर निगम क्षेत्र में जल की समस्या के निराकरण के लिए नगर निगम पहुचे विधायक संजय सत्येन्द्र पाठक , कर्मचारियों एवं अधिकारियों कों दिए आवश्यक दिशा निर्देश और सुझाव

कटनी ॥ जैसे ही मई महीने की शुरुआत हुई है जल संकट की आहट और तेजी से सुनाई देने लगी अप्रैल तो जैसे-तैसे निकल गया लेकिन मई-जून में लोगों को जल संकट का सामना करना पड़ सकता है। महीने की शुरुआत में ही नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में जल संकट की आहट तेजी से सुनाई देने लगी है जल संकट की इस आहट पर आज पूर्व राज्य मंत्री एवं विजयराघवगढ़ विधायक संजय सत्येन्द्र पाठक नें नगरनिगम कटनी के आयुक्त कार्यालय पहुँचकर संबंधित अधिकारियों से विषय अनुसार चर्चा की एवं जल संकट के संबंध में आवश्यक दिशा निर्देश व सुझाव भी नगर निगम आयुक्त के सामने रखकर जल संकट की समस्या का हल निकालने की बात कहीं वही विजयराघवगढ़ विधायक संजय सत्येन्द्र पाठक नें नगरनिगम के अधिकारियों एवं कर्मचारियों पर कार्य के प्रति अनभिज्ञता होने की बात भी कही ।  दरअसल कटनी के काटायेघाट नदी का भी जल स्तर लगातार गिरता जा रहा है, जो की चिंता का विषय है। इसी विषय के संबंद्ध में विजयराघवगढ़ विधायक संजय सत्येंद्र पाठक ने नगरनिगम पहुचें और नगर निगम आयुक्त सत्येंद्र सिंह धाकड़े से क्षेत्र में गहरा रहे जल संकट से उबरने के संबंद्ध में आवश्क सुझाव अधिकारियों के साथ साझा किए। संकट बड़ा है पर इसका मतलब यह नहीं कि इसका कोई हल नहीं है, विजयराघवगढ़ विधायक संजय सत्येंद्र पाठक ने कहां की शहर में पानी का संकट बड़ा है नदी नाले सहित तलाब सुख गए है और तो और बोर का पानी भी घट गया है, ट्यूबेल ने पानी छोड़ दिया है। संकट बड़ा है भीषण है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि इसका हल नहीं है। श्री पाठक ने कहा कि मेरी माता जी के महापौर कार्यकाल के समय भी भीषण जल संकट आया था, लेकिन उन्होंने कैनाल से पानी लाकर कटनी नदी में पानी गिराया था और 100 HP की चार-चार मोटरो को लगाकर आज से 8-9 वर्ष पूर्व कटनी नदी में पानी गिराकर 25 किलोंमीटर की नाली कटवा के कटनी नदी के बैराच तक पानी लाकर शहर में दोनों टाइम यही गर्मी के मौसम में जब भीषण जलसंकट था तब शहर में पानी मिलता था तो आज क्यों नही ?

पूरा प्रशासन बैठा है तो भी पानी नही मिल रहा श्री पाठक ने व्यक्त की नाराजगी
श्री पाठक ने निगम के अधिकारियों से बातचीत करते हुए कहां की मैनेजमेंट की कमी के कारण शहर के लोगों को पानी नहीं मिल पा रहा है, मैंने कहा कि अगर मेरी माता जी पूर्व महापौर श्रीमती निर्मला पाठकजी शहर में पानी के संकट को दूर करने लिए भरपूर प्रयास कर सकती हैं. तो आज पूरा प्रशासन बैठा है तो क्यों नहीं पानी मिल सकता है उन्होंने मैनेजमेंट की कमी बता कर इस बात पर नाराजगी जाहिर की नगर निगम के अधिकारियों और कर्मचारियों की शिथिलता के कारण कार्यों में देरी हो रही है. उन्होंने कहा कि हाथ पर हाथ धरकर बैठे रहने से पानी का संकट दूर नहीं होगा
बेहतर से बेहतर ढूंढने होंगे उपाय
निगम कार्यालय में जल संकट की अति आवश्यक चर्चा के दौरान श्री पाठक ने कहा कि जल संकट से निपटने के लिए हमें बेहतर से बेहतर परिणामों को खोजना पड़ेगा, जिससे जल संकट को कम किया जा सके ।

जलापूर्ति के लिए बढ़ाई जाएगी टैंकरों की संख्या
शहर सहित वार्डों में उत्पन्न हुए जल संकट से निपटने के लिए पानी के टैंकरों की संख्या को बढ़ाने के निर्देश भी बैठक के दौरान दिए गए श्री पाठक ने कहा कि नगर निगम के ठेकेदारों से भी टैंकरों की मांग कर वार्डों में पर्याप्त मात्रा में जलापूर्ति करनी चाहिए,

रेलवे के द्वारा किए गए कुछ बोरों को किया जाएगा अधिग्रहण
बैठक में सबसे महत्वपूर्ण जल की पर्याप्त मात्रा में जलआपूर्ति के संबंध में चर्चा के दौरान विधायक विजयराघवगढ़ संजय सत्येंद्र पाठक ने अधिकारियों के सामने रेलवे के कुछ बोरों को अधिग्रहण करने की बात भी रखी श्री पाठक ने कहा की रेलवे के द्वारा फ्लाई ओवर ब्रिज का निर्माण किया जा रहा है जिसके लिए रेलवे ने स्वयं की 350 बोर किए हैं, उनकी सभी बोरों में पर्याप्त मात्रा में पानी है उनमें से उन बोरों को अधिग्रहण किया जा सकता है जो मोहल्ले या बस्तियों से लगे हुए हैं जिन पर मोटर पंप लगाकर पानी पहुंचाने का काम भी सघनता से किया जा सकता है।

उद्योगपतियों खनिज व्यापारियों को आना होगा आगे
जल के संबंद्ध में नगर निगम कार्यालय के आयुक्त कक्ष में आयोजित बैठक के दौरान श्री पाठक ने कहा की कटनी शहर के उद्योगपतियों एवं खनिज व्यापारियों से3-3 दिन के लिए मशीनें लेकर कटनी नदी में एक मीटर की गहरी नाली काट कर कैनाल से बैराज में पानी पर्याप्त मात्रा में लाया जा सकता है !

नगर निगम के अधिकारी एवं कर्मचारियों के कार्य करने के तरीकों पर व्यक्त की नाराजगी
जल संकट से निपटने के लिए की गई बैठक के दौरान विजयराघवगढ़ संजय सत्येंद्र पाठक ने नगर निगम के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के कार्य करने के तरीके पर नाराजगी व्यक्त करते हुएकहा की , नगर निगम के अधिकारी कार्य करने के तरीके से अनभिज्ञ हैं अधिकारी एवं कर्मचारियों को उचित मार्गदर्शन एवं सुझाव देने की आवश्यकता है। जिससे यथाशीघ्र जल संकट दूर हो जाए।
मार्च अप्रैल में तो सब सामान्य था, लेकिन मई लगते ही नगर में जल संकट गहरा रहा है। मई में शहर में यह स्थिति बनी है तो जून में क्या होगा क्योंकि नगर में जल सप्लाई का नदी से ही एकमात्र साधन है। यूं कहे कि पूरा नगर नदी के जल पर निर्भर है।

दूर-दूर से ला रहे पानी
नगर में आलम यह है कि, कई वार्डों में नागरिक दूर-दूर से पानी ला रहे है। हैंडपंप पर सुबह से पानी भरने की लाइन लग जाती है। इस हैंडपंप पर कई वार्ड के लोग पानी भरने पहुंचते हैं। नगर वासियों को जल संकट का सामना ना करना पड़े इसका नगर निगम के द्वारा आगामी क्या प्रयास होंगे यह तो कार्य स्थिति से ही पता चलेगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed