यदि यात्री ट्रेन नहीं, तो गुड्स भी नहीं चलाएं: सुभाष

रेलवे लगातार कर रहा आदिवासी बाहुल्य संभाग की उपेक्षा

(Amit Dubey+8818814739)
शहडोल। रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी गण या तो शहडोल जिला मुख्यालय सहित संभाग के तीनों जिला मुख्यालयों में यात्री ट्रेनों की सुविधा उपलब्ध कराएं अथवा बिलासपुर कटनी सेक्शन के बीच दौड़ रही गुड्स ट्रेनों का परिचालन भी बंद कर दें। संभाग मुख्यालय शहडोल में वरिष्ठ समाजसेवी एवं कांग्रेसी नेता सुभाष गुप्ता की अध्यक्षता में संपन्न गणमान्य नागरिकों की बैठक में इस आशय का प्रस्ताव पारित किया गया है।
उपलब्ध कराई जाये यात्री ट्रेन
मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव एवं जिले के वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सुभाष गुप्ता के आह्वान पर आज स्थानीय जनप्रतिनिधियों व्यापारियों एवं गणमान्य नागरिकों की एक बैठक संपन्न हुई, जिसमें सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित कर रेल मंत्रालय से मांग की गई है कि शहडोल से रीवा, जबलपुर, बिलासपुर सहित अन्य स्थानों के लिए यात्री ट्रेन की सुविधा उपलब्ध कराई जाए। बैठक में पारित प्रस्ताव में यह भी कहा गया है कि यदि रेलवे शहडोल जिले व संभाग को यात्री ट्रेन की सुविधा उपलब्ध नहीं करा सकता है तो उसे गुड्स ट्रेनों की आवाजाही भी इस बिलासपुर कटनी सेक्शन के बीच बंद कर देना चाहिए।
लगातार संभाग की उपेक्षा
बैठक में उपस्थित स्थानीय जनप्रतिनिधियों गणमान्य नागरिकों एवं व्यापारी संघ के प्रतिनिधियों ने रेलवे द्वारा शहडोल संभाग की लगातार उपेक्षा किए जाने पर तीव्र आक्रोश जताया है। बैठक को संबोधित करते हुए इन नेताओं ने कहा कि शहडोल आदिवासी बाहूल्य संभाग है, जिसकी रेलवे अधिकारियों द्वारा हमेशा ही उपेक्षा की जाती रही है, जबकि यह अंचल रेलवे को सर्वाधिक आय उपलब्ध कराने वाला क्षेत्र है। बैठक में इस बात पर भी आक्रोश व्यक्त किया गया कि कोरोना कोविड-19 के बढ़ते प्रकोप एवं लॉकडाउन के बाद शुरू हुई अनलॉक की प्रक्रिया के दौरान दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे एवं पश्चिम मध्य रेलवे द्वारा कई ट्रेनों का संचालन आरंभ किया गया एवं कई यात्री ट्रेनें प्रस्तावित भी हैं, लेकिन इनमें से कोई भी ट्रेन ऐसी नहीं है जो बिलासपुर कटनी रेलखंड पर संचालित हों और उनका लाभ शहडोल संभाग के अनूपपुर, उमरिया एवं शहडोल जिले के रहवासियों को प्राप्त हो सके।
धैर्य की परीक्षा लेना करें बंद
रेलवे अधिकारियों द्वारा स्थानीय सांसद एवं अन्य जनप्रतिनिधियों द्वारा की जाने वाली मांगो को दरकिनार कर दिए जाने की प्रवृत्ति पर आक्रोश जताते हुए जिले के विभिन्न विभागों के प्रतिनिधियों ने कहां कि रेलवे आदिवासी बहुल अंचल के रहवासियों के धैर्य की परीक्षा लेना बंद करें क्योंकि जब सब्र का बांध टूटता है और जनसैलाब उमड़ता है तो हालात बद से बदतर हो जाते हैं। बैठक में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित कर रेल मंत्री सहित रेल महाप्रबंधक एवं डीआरएम बिलासपुर, डीआरएम जबलपुर से मांग की गई है कि तत्काल बिलासपुर कटनी रेल खंड पर ट्रेन संचालित कर आदिवासी शहडोल संभाग के रहवासियों को अन्य क्षेत्रों में आवागमन की सुविधा प्रदान करें।
ये रहे उपस्थित
इस अवसर पर मुख्य रूप से मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश महासचिव सुभाष गुप्ता, प्रदेश सचिव रविन्द्र तिवारी,युवा कांग्रेस प्रदेश महासचिव अजय अवस्थी,युवा कांग्रेस जिला अध्यक्ष अनुज मिश्रा, जिला कांग्रेस कमेटी शहडोल के महामंत्री पीयूष शुक्ला,युवा कांग्रेस जयसिंह नगर विधानसभा अध्यक्ष अभिषेक मिश्रा नित्तू, एन एस यू आई प्रदेश महासचिव सुमित गुप्ता,प्रदेश सचिव सोशल मीडिया एवं आई टी सेल विभाग प्रीतेश द्विवेदी,एन एस यू आई जिला समन्वयक आशीष तिवारी,युवा कांग्रेस नगर अध्यक्ष सोभित द्विवेदी, आशीष तिवारी,सचिन निगम,अखिलेश मिश्रा,सौरभ तिवारी,अभिषेक पाण्डेय,विवेक मिश्रा,भूपेंद्र सेन, विनोद सिंह, नीरज सोनी,कुनाल सिंह आदी काग्रेसजन उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *