गांव गांव बिक रही अवैध शराब, युवाओं का भविष्य खतरे में डाल रहे हैं जिम्मेदार

गांव गांव बिक रही अवैध शराब, युवाओं का भविष्य खतरे में डाल रहे हैं जिम्मेदार 

बहोरीबंद ॥ बहोरीबंद क्षेत्र में लगातार प्रत्येक गांव में अवैध शराब की बिक्री की जा रही है पैकारिर्यों से   रसूखदारो की दुकानें सजी रहती हैं दिन रात एक ही काम शराब बेचना है सट्टा-जुआ खिलाना,गांजा बेचना वही देखा जाए तो कितने युवाओं का भविष्य खतरे में डाल रहे हैं जिम्मेदार कितनों की तो जिंदगी समाप्त हो गई शराब का सेवन करने से लेकिन जिम्मेदार आबकारी विभाग कार्रवाई की जगह सिर्फ खानापूर्ति करते हैं !

नशे की लत से कई युवाओं का हो गया भविष्य खराब कईयों की खत्म हो गई जिंदगी

जिन मां-बाप का लड़का 1 दिन के लिए गुम हो जाए उनके माता-पिता पर क्या बीतती है यह तो वह खुद ही बता सकते हैं पर यदि किसी का लड़का शराब के नशे में है जुआ के नशे में चूर होकर अपनी जिंदगी बर्बाद कर दे तब उन पर क्या गुजरेगी जरा सोचें इन सब कार्यों की रोकथाम के लिए आबकारी विभाग हैं पुलिस प्रशासन है लेकिन उन्होंने भी अंत मैं दम तोड़ दिया

महिलाओं द्वारा भी बेची जाती है अबैध शराब

एक समय था एक पहचान थी मातृशक्ति की दुर्गा के स्वरूप की लेकिन उसे भी कुछ गांव की महिलाओं द्वारा नशे में व्याप्त कर उनकी छवि को चूर चूर कर दिया है मामला ऐसा ही कुछ था ग्राम सिहुडी का जहां लगातार और आज भी जानकारी के मुताबिक दो तीन महिलाएं दररोज शराब आज भी बेचती नजर आती हैं कई बार वीडियोस भी वायरल हुए शराब बेचते हुए उन महिलाओं के प्रिंट मीडिया के जरिए खबरों का प्रकाशन भी किया गया !

त्योहारों में उत्पन्न होती है विवाद की स्थिति

लगातार ग्रामीण क्षेत्र में ऐसा देखने में आ रहा है कि जैसे ही कोई भी त्यौहार आता है लोग बिना शराब के उस त्योहार को मनाना पसंद नहीं करते लोगों को गांव में ही दो से तीन जगह शराब उपलब्ध हो जाती है उसे दूर कहीं जाना नहीं पड़ता लोग शराब के नशे में चूर चूर होकर अपने विरोधियों के बीच में जाकर गाली गलौज कर झगड़े करता है मारपीट भी होती हैं तब जाकर पुलिस प्रशासन उन्हें कंट्रोल मैं लेता है !

जाने कब लगेगी लगाम कब जिम्मेदारों को होगा अपनी जिम्मेदारी का एहसास

बहोरीबंद थाना क्षेत्र से जुड़ा है पूरा बाकल ग्रामीण जिसमें आबकारी विभाग की भी रहती है पैनी नजर लेकिन आज तक ऐसी कोई कार्यवाही नहीं हुई कि जो अवैध प्रकार की गांव-गांव में दुकानें चल रही हैं उन्हें इस विभाग द्वारा बंद किया गया हो ना जाने कब उन्हें अपनी जिम्मेदारी का एहसास होगा और ना जाने कब ये अवैध प्रकार की पैकारिया बंद होंगी !

आज भी शराब के नशे में शिकार हुआ एक मां का लाल

मामला दरअसल बाकल छेत्र से जुड़े ग्राम सिहुडी का आज का ही है जहां एक मां का लाल फांसी के फंदे पर झूल गया मामले की छानबीन में जुटी बाकल पुलिस ने शव के पास ही बरामद की दो बोतल खाली शराब की शीशी एवं पास में ही एक स्प्राइट की सीसी एवं खाली डिस्पोजल शरीर में कुछ चोट के निशान पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही होगा खुलासा , लेकिन बात वही शराब के नशे में चूर चूर होकर भूल गया वह अपनी दुनिया!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *