30 मिनट की बारिश में शहर पानी-पानी, पर जिम्मेदारो को नहीं आया पानी

(Amit Dubey+8818814739)
शहडोल। अभी से कुछ घंटो पहले संभागीय मुख्यालय शहडोल के विभिन्न वार्डाे में करीब आधे घंटे तक झमाझम बारिश हुई, 30 मिनट की इस बारिश ने फिर नगर सरकार के सभी दावों के पोल खोलकर रख दी। संभागीय मुख्यालय में रहने वाले चाहे प्रदेश व देश की सरकार को बनाने वाले जनता के चुने हुए विधायक या सांसद हो, या फिर संभाग के मुखिया कमिश्नर का आवास हो, सभी के घरों के सामने आधे घंटे की बारिश ने ऐसा ताण्डव मचाया कि लोगों का निकलना मुश्किल हो गया। कहीं एक फुट तो, कहीं दो से तीन फुट तक पानी सड़को पर बहता रहा, जिम्मेदार अपने कार्यालय या आवासों में बैठे रहे। नगर में विकास का दावा करने वाले स्थानीय निकाय के मुखिया सीएमओ व अध्यक्ष के विकास के झूठे दावों की पोल एक बार फिर बारिश ने खोलकर सबके सामने ला दी।
गुरूवार की दोपहर को हुई करीब 30 मिनट तक हुई बारिश ने शहर सरकार के दावों की पोल खोल दी, इस दौरान घरौला मोहल्ला स्थित संभागायुक्त नरेश पाल सहित माननीय न्यायाधीश के शासकीय आवास के सामने पूरी सड़क पर एक से डेढ़ फिट पानी बहता रहा, इस दौरान सैकड़ों की संख्या में नागरिक पैदल और वाहनों से गुजरे तथा इस पानी से परेशान होते रहे।
विधायक-सांसद भी नहीं अछूते
कमिश्नर आवास के सामने ही क्षेत्रीय सांसद श्रीमती हिमाद्री सिंह सहित पूर्व मंत्री व विधायक जयसिंह मरावी का आवास है, यहां भी बह रहे पानी ने नाली-फुटपाथ और सड़क का भेद खत्म कर दिया था, जब अग्रिम पंक्ति के नौकरशाहों और जनप्रतिनिधियों के आवास हल्की सी बारिश में अव्यवस्था में डूब गये तो, आमजन क्या हाल हुआ होगा।
पुलिस अधिकारी के घर पानी-पानी
यातायात विभाग के डीएसपी अखिलेश तिवारी को शासन द्वारा आवंटित किये गये सरकारी आवास में भी पानी-पानी नजर आया, आवास के सामने की सड़क के दोनों किनारे नाली न होने के कारण सड़क पर बहता हुआ पूरा पानी सीधे गेट से अंदर जाता नजर आया। शहर सहित पूरे जिले के वाहनों को दिशा देने वाले यातायात डीएसपी नपा की लापरवाही के कारण दिशा से भटक चुके पानी के बहाव को नहीं रोक पाये।
दर्जनों बार किया आवेदन
संभाग के सबसे बड़े गांधी स्टेडियम शहडोल से सटे वार्ड नंबर 8 में हुई आधे घंटे बारिश ने पूरे मोहल्ले को तालाब में तब्दील कर दिया, वार्डवासियों ने बताया कि वार्ड के पार्षद सहित नगरपालिका में दर्जनों बार आवेदन दिया गया है, लेकिन हमारे और किसी वार्ड में विकास नजर नहीं आया, सिर्फ अखबारों में ही तीन सालों से विकास नजर आ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *