विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा पर्यावरण, वन्य जीव संरक्षण की दी जानकारी

शहडोल। आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम अंतर्गत जिला विधिक सेवा प्राधिकरण शहडोल द्वारा नालसा की बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम, महिलाओं के साथ लैंगिक उत्पीडऩ अधिनियम, दहेज अधिनियम, पी.एन.डी.टी. एक्ट अधिनियम के संबंध में प्रधान एवं जिला न्यायाधीश एवं अध्यक्ष श्री व्ही.पी. सिंह के मार्गदर्शन एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव एवं जिला एवं अपर सत्र न्यायाधीश की अध्यक्षता में विधिक जागरूकता शिविर आज ग्राम बरहा टोला तहसील ब्योहारी जिला शहडोल में आयोजित किया गया।
शिविर में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव एवं जिला एवं अपर सत्र न्यायाधीश अनूप कुमार त्रिपाठी ने नालसा से संबंधित योजनाओं जनमानस को जागरूक करते हुए बाल-विवाह प्रतिषेध अधिनियम, दहेज निषेध अधिनियम, महिलाओं के साथ लैंगिक उत्पीडऩ अधिनियम एवं दहेज अधिनियम के संबंध में कानूनी जानकारी दी, उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग से श्री हल्दकार द्वारा पॉलीहाउस, नेटहाउस, गुलाब की खेती एवं विभाग से संबंधित योजनाओ से आमजन को जागरूक किया। शिविर में महिला एवं बाल विकास से सुपरवाइजर श्रीमती अंकिता पटेल ने महिला स्वास्थ्य संबंधी एवं गर्भवती महिलाओं से विभाग द्वारा चलाई जाने वाली योजनओ के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इसी प्रकार राजस्व संबंधी फौती नामांतरण, बंटवारा, सीमांकरण, पर्यावरण संरक्षण एवं वन्य जीव संरक्षण के बारे में जानकारी दी गई तथा नालसा की योजनाओं के बारे में भी विस्तृत जानकारी दी गई।
मेगा शविर में पर्यावरण विभाग से रिसर्चर संजय पयासी, राजस्व विभाग से आर.आई. पटवारी, ब्योहारी तहसीलदार अभ्यानंद शर्मा, महिला बाल विकास विभाग से सुपरवाइजर श्रीमती अंकिता पटेल, समाजिक न्याय एवं कल्याण विभाग, जनपद पंचायत विभाग, कृषि विभाग, उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग, स्वास्थ्य विभाग, रोजगार सहायक विभाग, ग्राम के सरपंच एवं सचिव, पशु पालन विभाग, जिला विधिक प्राधिकरण एवं तहसील विधिक सेवा प्राधिकरण के अधिकारी एवं कर्मचारीगण भानू प्रताप सिंह, विकास पाण्डेय, अशोक बैगा, पैरालीगल वालेंटियर्स तथा काफी संख्या में लोग उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *