कटनी पुलिस नें फिर दिया मानवता का परिचय , बचाई बीमार युवक की जान कुठला थाना के एएसआई विजेंद्र तिवारी और राजेश शमशेर ने एक बीमार के जीवन को बचाने का कार्य कर दिया मानवता का परिचय

कटनी पुलिस नें फिर दिया मानवता का परिचय , बचाई बीमार युवक की जान
कुठला थाना के एएसआई विजेंद्र तिवारी और राजेश शमशेर ने एक बीमार के जीवन को बचाने का कार्य कर दिया मानवता का परिचय

कटनी ॥ बीती रात गस्त चैकिंग डियुटी के दौरान थाना कुठला के ए एस आई विजेंद्र तिवारी ने एक बीमार नौजवान कि जान बचाई कस्बा चैक गस्त डि यु टी के दौरान करीब 2 बजे रात्री मे इन्द्रा नगर बायपास पर दो लडके रोड किनारे दिखे एक रोड के किनारे असहाय स्थित मे लेटा था दुसरा उसको उठा रहा था पुछताछ पर रवि सिंह ने बताया कि वह ओर ऊसका दोस्त कृष्णपाल पिता फुली चंन्द सिंह गुजरात मे मेहनत मजदूरी करने गये थे जो काम बंद होने से तथा मित्र कृष्णपाल को पिलीया बीमारी हो जाने से गुजरात से बस से गाँव बडबारा जाने के लिए कटनी आये बस वाले ने 1.30 बजे रात हमे इन्द्रा नगर पुल के पास कुठला मे ऊतार दिया ! गांव जाने के लिए साधन नही मिल रहा था और मित्र कृष्णपाल की तबीयत बिगड़ती जा रही थी बोल चाल नही रहा था! मैंने फोन लगाकर कृष्णपाल के पिता को फोन से सुचना देकर बुलाया वह भी यहां आए परंतु अस्पताल ले जाने के लिए रात में हमें ऑटो या अन्य कोई साधन एम्बुलेंस नहीं मिल रहा! कृष्णपाल का स्वास्थ्य ज्यादा खराब हो गया वह बेहोश जैसी स्थिति में हो रहा था बिलकुल भी बोल चाल नही रहा है आने जाने गाडी वालो से मदद मागी पर कोई गाडी नही रोक रहा था! तब हमे गस्त कर रहे पुलिस ने पुछताछ की तो रवि ने सारी बताया जिसकी बिना किसी बात कि परवाह किये बिना समय और परिस्थितियों को ध्यान मे रखते हुये बीमार असहाय राहगीर को रात्रि में अस्पताल जाने की व्यवस्था हेतु बोलेरो गाड़ी बामुशकिल बुलाकर बीमार कृष्णपाल को उसके मित्र रवि ओर बुजुर्ग पिता चंद्रपाल के साथ बोलेरो गाड़ी से तत्काल जिला चिकित्सालय में भेजा वा कर एडमिट कराया गया! कृष्णपाल को पीलिया बीमारी के कारण वह चल फिर नहीं पा रहा था रोड में असहाय स्थिति मे पीलिया बीमारी से पीडित पड़ा हुआ था जिसकी तत्काल मदद यदि पुलिस कें द्वारा नही की जाती तो गंभीर स्थिति उत्पन्न हो सकती थी , पुलिस विभाग कें एएसआई कुठला थाना के विजेंद्र तिवारी आर राजेश शमशेर ने एक बीमार के जीवन को बचाने का कार्य कर मानवता का परिचय दिया!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *