कायस्थ समाज की महिलाओं ने किया पौधरोपण

शहडोल। कायस्थ समाज की महिलाओं ने ग्राम गोरतरा ने पौधरोपण किया, कायस्थ समाज की महिलाओं ने कोरोना काल में पौधरोपण कार्यक्रम का आयोजन कर पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया। महिला सदस्यों द्वारा पौधरोपण कार्यक्रम को आयोजित करने का निर्णय लिया गया और कोरोना काल के दृष्टिगत ें पौधरोपण कार्यक्रम का आयोजन किया। महिला सदस्यों द्वारा विभिन्ना प्रजातियों के पौधों का रोपण किया तथा उनकी सुरक्षा का संकल्प लिया। महिला सदस्यों ने कहा कि मनुष्य के जीवन से कहीं बढ़कर पेड़ पौधों का जीवन जरूरी है, क्योंकि यदि भूमि पर पेड़-पौधे नहीं होंगे तो मानव का जीवन भी संभव नहीं है। इसलिए हमें अपनी सुरक्षा से पहले पेड़ पौधों की सुरक्षा करना चाहिए। मनुष्य को केवल अपने जीवन यापन के बारे में ही नहीं सोचना चाहिए, बल्कि यह भी ध्यान देना चाहिए कि हमारे जीवन के लिए क्या क्या महत्वपूर्ण है। निश्चित ही यदि पेड़ पौधे नहीं होंगे तो वायुमंडल का संतुलन बिगड़ जाएगा और यहां मानव व जीव जंतुओं का जीवन यापन संभव नहीं होगा। पिछले कुछ वर्षों में वनों के विनाश व अंधाधुंध पेड़ों की कटाई ने पर्यावरण के संतुलन को बिगाड़ रखा है, जिसके कारण ही आज पौधरोपण के कार्यक्रम को अत्यावश्यक बना दिया है। पृथ्वी को हरा-भरा व उपजाऊ बनाने के लिए हम सबको आवश्यकतानुसार फल, औषधि व छायादार वृक्ष लगाना चाहिए। इस अवसर पर कायस्थ महिला समाज की अध्यक्ष इंद्रा श्रीवास्तव,सचिव कविता श्रीवास्तव ,अर्चना चौधरी, आभा श्रीवास्तव, जया खरे, गीता खरे, वर्षा श्रीवास्तव, सविता श्रीवास्तव, साधना निगम, शशि श्रीवास्तव के अलावा समाज की अन्य महिलाएं उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *