समस्याओं को सुनने व शिकायतों का समयावधि में त्वरित हों वैधानिक निराकरण-पुलिस महानिरीक्षक उमेश जोगा ( भा.पु.से. ) पुलिस महानिरीक्षक जबलपुर जोन द्वारा जिला कटनी का आकस्मिक निरीक्षण कर जिले में पदस्थ राजपत्रित पुलिस अधिकारी एवं थाना प्रभारियों की पुलिस अधीक्षक कार्यालय कटनी में ली गई बैठक

समस्याओं को सुनने व शिकायतों का समयावधि में त्वरित हों वैधानिक निराकरण-पुलिस महानिरीक्षक उमेश जोगा ( भा.पु.से. )
पुलिस महानिरीक्षक जबलपुर जोन द्वारा जिला कटनी का आकस्मिक निरीक्षण कर जिले में पदस्थ राजपत्रित पुलिस अधिकारी एवं थाना प्रभारियों की पुलिस अधीक्षक कार्यालय कटनी में ली गई बैठक !

कटनी ॥ पुलिस महानिरीक्षक जबलपुर जोन द्वारा जिला कटनी का आकस्मिक निरीक्षण कर जिले में पदस्थ राजपत्रित पुलिस अधिकारी एवं थाना प्रभारियों की पुलिस अधीक्षक कार्यालय कटनी में बैठक ली गई , जिसमें सभी पुलिस अधिकारियों से परिचय प्राप्त किया गया । उमेश जोगा ( भा.पु.से. ) , पुलिस महानिरीक्षक जबलपुर जोन जबलपुर द्वारा जिला कटनी का आकस्मिक निरीक्षण कर जिले में पदस्थ राजपत्रित पुलिस अधिकारी एवं थाना प्रभारियों की पुलिस अधीक्षक कार्यालय कटनी में बैठक ली गई , जिसमें सभी पुलिस अधिकारियों से परिचय प्राप्त किया गया । बैठक में पुलिस महानिरीक्षक जबलपुर जोन जबलपुर द्वारा जिले में लंबित अपराधों का त्वरित निराकरण किये जाने हेतु निर्देशित किया गया तथा कार्यालय / थानों में आने वाले आवेदकों की स्वयं समस्याओं को सुनने व शिकायतों का समयावधि में त्वरित वैधानिक निराकरण करने हेतु निर्देशित किया गया , पुलिस अधिकारी / कर्मचारी आम जनता से सभ्यतापूर्वक व्यवहार करें , किसी भी व्यक्ति से गाली – गलौज , मारपीट नहीं करने हेतु निर्देशित किया गया । अपराधों की समीक्षा पर विगत वर्ष की तुलना में जिन – जिन अपराधों में वृद्धि हुई है , उन सभी अपराधों के बढ़ने के कारणों एवं घटनास्थल जाकर अपराधों की समीक्षा कर निकाल करने हेतु निर्देशित किया गया । न्यायालय में लंबित अपराधों की मॉनीटरिंग कर साक्षियों को नियत पेशी दिनांक को अनिवार्य रूप से उपस्थित कराने एवं अभियोजन अधिकारियों से सतत् समन्वय स्थापित कर प्रकरणों में शत – प्रतिशत सजा कराये जाने के लिये निर्देशित किया गया । पूर्व वर्ष के 19 चिन्हित प्रकरण एवं इस वर्ष चिन्हित 11 प्रकरणों की समीक्षा कर सभी प्रकरणों में निर्णय कराया जाकर सजा कराये जाने एवं गंभीर प्रकरणों को चिन्हित प्रकरणों की श्रेणी में चिन्हित करने हेतु निर्देशित किया गया । अनुभाग / थाना क्षेत्र में निवासरत् गणमान्य नागरिकों से सौहार्द्रपूर्ण व्यवहार एवं समन्वय रखने , जिले में हो रही अवैध गतिविधियों पर पूर्णतः अंकुश लगाये जाने के लिये आसूचना संकलन को मजबूत बनाने एवं नगर / ग्राम रक्षा समितियों के सदस्यों को सक्रिय कर जानकारी प्राप्त कर कठोर कार्यवाही किये जाने हेतु निर्देशित किया गया , साथ ही सम्पत्ति संबंधी अपराधों में बरामदगी का प्रतिशत बढ़ाये जाने एवं क्षेत्र के सभी गुण्डे , बदमाशों पर पूर्णतः नजर रखने व घटना घटित करने पर तत्काल कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया , जिससे कि सम्पत्ति संबंधी अपराधों में भी कमी लाई जा सके । पुलिस महानिरीक्षक द्वारा सभी राजपत्रित पुलिस अधिकारियों / थाना प्रभारियों को पूर्ण व्यावसायिक दक्षता से अपराधों की विवेचना करने व विवेचना का स्तर अच्छा बनाये रखने की समझाइश दी गई , जिससे कि अधिक से अधिक प्रकरणों में आरोपियों को सजा हो सके । पुलिस महानिरीक्षक द्वारा यह भी निर्देशित किया गया कि अधीनस्थ पदस्थ पुलिसकर्मियों एवं उनके परिवारजनों को किसी भी बीमारी से ग्रसित होने पर उन्हें तत्काल आवश्यक इलाज मुहैया करायें तथा वर्तमान में कोरोना एवं डेंगू के बढ़ते प्रकोप को दृष्टिगत रखते हुये सभी कार्यालयों , थानों , रक्षित केन्द्र एवं शासकीय आवासों में दवाइयों का छिड़काव करने , साफ – सफाई रखने एवं शासन द्वारा कोरोना हेतु जारी गाइडलाईन का अनिवार्य रूप से पालन करने हेतु निर्देशित किया गया , साथ ही जिले में अवैध शराब , जहरीली शराब बनाने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध सख्त से सख्त कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed