पुलिस कर्मियों के ग्रेड पे में बढ़ोतरी को लेकर विधायकों ने खोला मोर्चा

शशिकांत कुशवाहा
सिंगरौली । मध्य प्रदेश में पुलिस कर्मियों के ग्रेड पे में बढ़ोतरी को लेकर अब तक 20 से ज्यादा विधायकों के द्वारा मुख्यमंत्री के नाम पत्र लिखा जा चुका है इस पत्र की संख्या में लगातार बढ़ोतरी से पुलिस विभाग के कर्मियों जैसे आरक्षक वर्ग में मामले को लेकर उत्साह है तो वही लंबे अरसे से लगातार ग्रेड पर में बढ़ोतरी को लेकर यह आरक्षक वर्ग दबी जुबान पर अपनी बात तक नहीं रख पा रहा था और ऐसे में सबसे ज्यादा लिखे गए पत्रों में से कांग्रेस विधायकों के द्वारा आरक्षक वर्ग के समर्थन में उतर आए । वही सिंगरौली विधायक राम लल्लू वैश्य ने भी मुख्यमंत्री के नाम पत्र लिखकर ग्रेड पे बढ़ाने की बात कही है. 20 से ज्यादा विधायकों ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र।
क्या है मामला
दिन रात जनता के सुरक्षा में लगे पुलिस विभाग के कर्मियों में एक तरफ जहां 24 घंटे कानून व्यवस्था को बनाए रखने की जिम्मेदारी है वहीं दूसरी तरफ बढ़ती महंगाई के कारण इनका बुरा हाल है । लंबे समय से आरक्षक वर्ग की मांग रही है कि इनका ग्रेड पे 1900 रुपये से बढ़ाकर 2400 रुपये की जाए । लगातार पुलिस विभाग के आरक्षक वर्ग की इस मांग को नजरअंदाज किया जा रहा है जिससे पुलिस विभाग के इस तबके में आक्रोश दिखने लगा है दबी जुबान पर सब का एक ही कहना है कि 24 घंटे काम करो और अपनी बात तक नहीं रख पाते हमारी सुनवाई कहीं नहीं होती इस तरह की बातें पुलिस विभाग की तरफ से सुनने को आम हो गई हैं जिससे स्पष्ट होता है कि ग्रेड पे को लेकर विभाग में आक्रोश की ज्वाला जल रही है ।
कॉन्ग्रेस के विधायकों ने लिखे सबसे ज्यादा पत्र
आरक्षक वर्ग के ग्रेड पे को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को ग्रेड पे में बढ़ोतरी को लेकर सबसे ज्यादा पत्र कांग्रेस के विधायकों के द्वारा लिखा गया है और उन पत्रों के माध्यम से कांग्रेस विधायकों ने मांग की है कि पुलिस विभाग के आरक्षक का ग्रेड पे ओ उनीस सौ रुपए से बढ़ाकर 24 सो रुपए किया जाए ।
वहीं भाजपा विधायक भी पीछे नहीं
आरक्षक वर्ग के ग्रेड पे में बढ़ोतरी को लेकर सिर्फ कांग्रेस विधायकों ने ही पत्र नहीं लिखा है बल्कि भारतीय जनता पार्टी के आधा दर्जन विधायकों ने भी मुख्यमंत्री से ग्रेड पे बढ़ाने को लेकर पत्र लिखकर मांग की है।
विधानसभा पटल पर नहीं पहुंचती है समस्याएं
कोई भी पुलिसकर्मी ना तो संगठन बना सकता है और ना ही हड़ताल कर सकता है जिससे कि इनकी समस्याएं विधान सभा पटल तक नहीं पहुंच पाती हैं और लगातार ऐसा होने के कारण इनकी सुनी भी नहीं जाती पुलिस विभाग के आरक्षक वर्ग को लेकर जिस तरह से विधायकों ने ग्रेड पे की बात को लेकर मुख्यमंत्री के नाम पत्र लिखा है एवं मांग की है उससे तो यह लगता है कि संबंधित विधानसभा के विधायक इस बात से इत्तेफाक रखते हैं की 24 घंटे सुरक्षा व्यवस्था में तैनात इस वर्ग को दिया जाने वाला मानदेय इस महंगाई में कम है जिसे की सरकार को बढ़ाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *