तेंदुए की खाल उतर रहे शिकार हुए फरार

ग्रामीणों ने दी जानकारी, हिरासत में आये संदेही

(सुनील मिश्रा) -9755476196

शहडोल। वन परीक्षेत्र बुढार के बीट अर्झुली पीएफ  811 के कोल्हारु गांव के जंगल में अपराधियों के द्वारा घात लगाकर तेंदुए का शिकार कर उसका खाल उतार रहे थे। ग्रामीणों की आहट पाकर आरोपी फरार हो गए, सूचना देने के बाद वन अमला मौके पर पहुंचकर मामले की जांच में दिनभर जुटी रही। स्थानीय लोगो के मुताबिक क्षेत्र में वन्य प्राणी की आहट मिल रही थी जिसकी सूचना वन परिक्षेत्र अधिकारी को भी थी लेकिन इस विषय पर कोई सार्थक कदम नही उठाया गया और आखिर एक वन्य प्राणी को मौत के घाट उतार दिया। रेंजर की लापरवाही के चलते श्रेणी 01 का वन्य प्राणी तेंदुए की गई जान चली गई। अभी हाल ही में 3421 तेंदुओं के साथ पूरे देश में मध्यप्रदेश को प्रथम स्थान प्राप्त किया है। लेकिन अधिकारियों के द्वारा लापरवाही करते हुए फिर से एक वन्य प्राणी को काल के गाल में पहुंचा दिया, हाल में ही जिले के अंदर बाघों के शिकार के कई प्रकरण पाए गए जिससे वैश्विक स्तर पर जिले की किरकिरी हुई है।
सूत्रों की माने तो वन विभाग की टीम ने डॉग स्क्वायड की मदद से तीन संदेहियों को गिर तार किया है। देर शाम तक विभाग ने तीनों युवको कब्जे में लेकर पूंछताछ कर रही है। खबर है कि पकड़े गए युवक चौरापानी गांव के रहने वाले है, इस मामले में जि मेदारी से भागते हुए वन परिक्षेत्र अधिकारी ने मोबाइल नंबर बंद करके रखा हुआ था, सूचना के बाद वन विभाग की टीम ने शिकार की खबर वायरल न हो इसका भी पूरा ध्यान रखा था, गांव के एक युवक को वन कर्मी ने फोटो खीचने से मना किया और जब तक युवक को साहब की मनाही समझ में आती तब तक उसकी पिटाई हो गई। देर शाम तक आरोपियों का खलासा नही हो सका।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *