लोकायुक्त ने सरपंच को एक लाख की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा

लोकायुक्त ने सरपंच को एक लाख की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा

कटनी ॥ त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के परिणाम घोषित होने के बाद नवनिर्वाचित पंच सरपंच बनते ही भ्रष्टाचार का मुकुट पहनने पर लोकायुक्त नें करवाई करते हुए सरपंच को रिश्वत के साथ पकड़ा है ! शुक्रवार को ग्राम पंचायत कटनी जिले के ढीमरखेड़ा तहसील के ग्राम खामहा में सरपंच को लोकायुक्त की टीम ने शासन की योजनाओं का लाभ दिलाने के एवज में रिश्वत लेने के मामले में पकड़ा है। लोकायुक्त की टीम नें सरपंच सुशील कुमार पाल को रिश्वत की पहली किश्त 1 लाख रुपए लेते हुए रंगे हाथों धरदबोचा है । लोकायुक्त के करवाई के अनुसार ढीमरखेड़ा तहसील के ग्राम खामहा में आलोक कुमार पिता श्रवण कुमार 40 वर्ष जो मूलत: प्रयागराज यूपी का निवासी है, उसकी 8 एकड़ कृषि भूमि कटनी जिले के ढीमरखेड़ा के ग्राम खामहा में है, वह लगातार इस कृषि भूमि पर सरकारी योजनाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए पंचायत में संपर्क करता रहा, लेकिन सरपंच सुशील कुमार पाल प्रति एकड़ 50 हजार रुपए (कुल 4 लाख रुपए) रिश्वत मांग की जा रही थी । इसकी शिकायत आलोक कुमार पिता श्रवण कुमार 40 वर्ष द्वारा लोकायुक्त जबलपुर को की थी। उक्त मामले में पहले सरपंच और फरियादी के द्वारा प्रथम किस्त के एक लाख रुपए देने की बात तय की गई थी। जब तय समय अनुसार एसपी लोकायुक्त संजय साहू के निर्देश पर जबलपुर से उप पुलिस अधीक्षक दिलीप झरवड़े, निरीक्षक मंजू किरण तिर्की, निरीक्षक कमल सिंह उईके निरीक्षक नरेश बेहरा व अन्य टीम के सदस्यों ने पूरी तैयारी के साथ ढीमरखेड़ा के ग्राम खामहा पहुंची, वहां जैसे ही आलोक कुमार ने सरपंच सुशील कुमार पाल को 1 लाख रुपए की रिश्वत दी, इसी बीच लोकायुक्त की टीम ने सरपंच को पकड़ लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed