मध्य प्रदेश शिक्षक संघ ने किया धरना प्रदर्शन, सौंपा ज्ञापन

शहडोल। प्रांतीय कार्यकारिणी के आह्वान पर मध्य प्रदेश शिक्षक संघ शहडोल का विशाल धरना, प्रदर्शन एवं ऐतिहासिक रैली के पश्चात ज्ञापन कलेक्टर श्रीमती वंदना वैद्य को दिया गया। शिक्षक संघ के अध्यक्ष लालजी तिवारी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार शिक्षकों के एक बहुत बड़े समूह के साथ अध्यक्ष श्री तिवारी की अगुवाई में कलेक्टर के माध्यम से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, वित्त मंत्री, स्कूल शिक्षा मंत्री एवं मुख्य सचिव मध्यप्रदेश शासन को ज्ञापन सौंपा गया।

ज्ञापन के मुख्य बिंदु में पहला 30 से 38 साल तक सेवा कर रहे हमारे नियमित शिक्षक संवर्ग के साथियों को पदोन्नति के नहीं होने पर वेतनमान के अनुसार उच्च पद पर पदनाम अभी तक प्राप्त नहीं हो सका संगठन के द्वारा लगातार कई वर्षों से इसकी मांग की जाती रही है, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के द्वारा दो बार इसकी घोषणा की जा चुकी है, मध्य प्रदेश शासन के गृह विभाग द्वारा हमारे पुलिस विभाग के साथियों को इसका लाभ मिल चुका है, शिक्षा विभाग में एवं जनजाति कार्य विभाग में वेतनमान के अनुसार उच्च पद पर पदनाम नहीं मिलने से नियमित संवर्ग के शिक्षकों में निराशा के साथ-साथ आक्रोश असहनीय हो चुका है।

दूसरे बिंदु में भारत सरकार द्वारा 2005 में राष्ट्रीय पेंशन योजना लागू की गई लेकिन राज्यों के लिए अनिवार्य नहीं थी, लेकिन मध्यप्रदेश शासन के द्वारा इसको लागू किया गया यह नवीन संवर्ग के कर्मचारियों के लिए सामाजिक सुरक्षा देने में असफल सिद्ध हो रही है, इस कारण 2005 के बाद नियुक्त संपूर्ण कर्मचारी जगत में असुरक्षा, भय एवं अत्यंत अवसाद की स्थिति निर्मित हो रही है, ओल्ड पेंशन स्कीम कर्मचारियों के आत्म सम्मान एवं स्वाभिमान से जुड़ा मुद्दा है इस कारण इस अवस्था में कर्मचारियों की कार्यक्षमता भी प्रभावित हो रही है, अत: संगठन तत्काल पुरानी पेंशन स्कीम को बहाल करने की पुरजोर मांग करता है। तीसरे बिंदु में केंद्र के समान यथावत वेतनमान ,गृह भाड़ा भत्ता साथ ही पात्रता धारी गुरुजियों को नियुक्ति दिनांक से वरिष्ठता देते हुए नवीन शिक्षा संवर्ग की (शिक्षा विभाग में) रोकी गई क्रमोन्नति आदेश शीघ्र प्रसारित किए जाएं।

धरना प्रदर्शन एवं रैली में अरुण मिश्रा, राजन सिंह, महेश प्रसाद द्विवेदी, विनोद कुमार सिंह, रामनारायण विश्वकर्मा, जिला सचिव हरिहर प्रताप सिंह, केपी मिश्रा, शैलेश पांडे, राजेश तिवारी, श्रीमती करुणा तिवारी, श्रीमती रमा शर्मा, लक्ष्मी मिश्रा, रामधनी सिंह, महेंद्र सिंह, राजेंद्र शर्मा, सहजेंद्र चतुर्वेदी, सूर्यप्रताप सिंह, रामलाल पांडे, श्रीमती देवकी सिंह, श्रीमती रेखा सिंह, उदय कांत मिश्रा, ब्रज जायसवाल, श्रीमती नीता सोनवानी, दिलीप अग्रवाल, श्रीमती रामकली सिंह, महेन्द्र पाठक, कैलाश जोशी, सुनील राव, आर.डी. राय, देवेंद्र प्रताप सिंह, सीता शरण शुक्ला, अभय राज सिंह, बिपिन द्विवेदी, ललन प्रसाद तिवारी, अबुल कलाम, कमलेश मिश्रा, जितेंद्र तिवारी, छक्केलाल गुप्ता, वीरेंद्र सिंह कर्चुली, मनोज त्रिपाठी, शिशिर मिश्रा, कमलेश मिश्रा, उर्मिला द्विवेदी, आचार्य तीरथ प्रसाद द्विवेदी, अख्तर हुसैन, पुष्पराज सिंह, मीला सिंह उरमालिया, अखिलेश, सुरेंद्र सिंह जैतपुर, शारदा सिंह, शेषमणि सिंह, मुन्ना लाल, इसहाक खान, संतोष सिंह, मनमोहन सिंह, सहित 500 शिक्षक एवं महिला शिक्षिका उपस्थित रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *