बाजार बैठकी बनी कमाई का जरिया, बिना ठेके के हो रही अवैध वसूली, 2 की जगह वसूल रहे 5 रुपए बरसों से लगा रहे राजस्व को चूना

बाजार बैठकी बनी कमाई का जरिया, बिना ठेके के हो रही अवैध वसूली, 2 की जगह वसूल रहे 5 रुपए
बरसों से लगा रहे राजस्व को चूना

कटनी ॥ शहर में बाजार बैठकी की वसूली अवैध कमाई का जरिया बन गई है। बाजार बैठकी का ठेका नगर निगम द्वारा निविदा आमंत्रित कर दिया जाता है। अफसोस तो इस बात का है कि पिछले कई सालों से बाजार बैठकी का कोई ठेका ही ही नहीं हुआ है।
अब सवाल ये उठता है कि जब ठेका किसी को मिला ही नहीं है तो फिर अवैध वसूली में लगे लोग कौन हैं । एक सवाल यह भी उठता है कि हर रोज 10 से 15 हजार रुपए की बैठकी से होने वाली वसूली आखिर किसकी जेब गर्म कर रही है। जानकार सूत्रों की मानें तो बाजार बैठकी की वसूली का हिस्सा 4 से 6 लोगों के बीच बांटा जा रहा है। ताज्जुब है कि कई सालों से राजस्व के खजाने को चूना लगाया जा रहा है फिर भी दोषियों पर कोई कार्यवाही नहीं हो रही।
दुकानदारों का कहना है कि मर्जी हुई तो रसीद देते हैं नहीं तो नहीं देते । दुकानदार यह भी बताते हैं कि 2 की जगह रंगदारी से 5 रुपए वसूला जा रहा है । कुल मिलाकर शहर मैं बाजार बैठकी की वसूली से होने वाली अवैध कमाई की लालसा मे जिम्मेदार लोगों ने भी चुप्पी साध रखी है। वैसे देखा जाए तो भ्रष्टाचार का यह खेल खुल्लम खुल्ला अधिकारियों की नाक के नीचे हो रहा है। इसके बाद भी दोषियों पर कार्यवाही ना होना अनेक सवालों को जन्म देता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *