कोविड की अग्रिम व्यवस्था एवं कार्यवाही के संबंध में बैठक संपन्न

विक्रांत तिवारी
शहडोल । कमिश्नर नरेश पाल निर्देश दिए है कि कोरोना पीडि़त अति गंभीर मरीजो को ही डेडिकेटेड कोविड अस्पताल शासकीय चिकित्सा महाविद्यलाय में भर्ती कराएं तथा अन्य साधारण मरीजो का इलाज जिला चिकित्सालयों के कोविड़ सेंटर में ही किया जाना सुनिश्चित करें। कमिश्नर ने निर्देश दिए है कि कोविड-19 के मरीजो की बढ़ती हुई संख्या को दृष्टिगत रखते हुए संभाग के विभिन्न प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रो एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रो में पदस्थ चिकित्सको, पैरामेडिकल स्टाफ एवं अन्य स्टाफ का प्रशिक्षण कोविड़-19 के उपचार के लिए दिया जायें।
व्यवस्था एवं कार्यवाही के निर्देश
कमिश्नर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को भी निर्देशित किया है कि कोविड़-19 के उपचार में आवश्यक दवाईयां एवं अन्य उपकरणो एवं सामग्री की उपलब्धता निकट भविष्य के लिए सुनिश्चित कराएं। कमिश्नर ने उक्त निर्देश सोमवार को कोविड-19 प्रकरणों की समीक्षा एवं कोविड की अग्रिम व्यवस्था एवं कार्यवाही किए जाने के संबंध में शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय के सभागार में आयोजित बैठक दिए। बैठक में कमिश्नर ने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि डेडिकेटेड कोविड अस्पताल शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय में भर्ती मरीजो, ड्यूटी डॉक्टर्स, दवाईयों एवं अन्य बिन्दुओं जानकारी अधिष्ठाता एवं अस्पताल अधीक्षक की मॉनिटरिंग हेतु गूगल शीट बनाई जाए।
पैरामेडिकल स्टॉफ को दिलाये प्रशिक्षण
बैठक में कमिश्नर ने मेडिकल कॉलेज के विभागाध्यक्ष जर्नल मेडिसिन विभाग को निर्देश दिए हैं कि संबंधित चिकित्सकों एवं अन्य पैरामेडिकल स्टाफ का आवश्यक प्रशिक्षण तत्काल कराएं तथा डेडीकेटेड कोविड अस्पताल, शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय शहडोल में रेडियोग्राफर, टेक्नीशियन की तत्काल कमी को देखते हुए अन्य स्थानो पर पदस्थ अतिरिक्त रेडियोग्राफर्स को चिन्हित करने के भी निर्देश दिए।
डीव्हीपीएल दिलवाएगी प्रशिक्षण
कमिश्नर ने डेडीकेटेड कोविड अस्पताल शहडोल में ऑक्सीजन की सप्लाई का प्रशिक्षण समय-समय पर डीव्हीपीएल निर्माण एजेंसी शहडोल द्वारा दिलवाए जाने के निर्देश दिए। बैठक में कमिश्नर ने क्षेत्रीय संचालक स्वास्थ्य सेवाएं रीवा संभाग एवं सिविल सर्जन जिला अस्पताल शहडोल को जिले में पदस्थ फिजीशियन एवं एनेस्थेटिक्स की जानकारी अविलंब प्रस्तुत किए जाने के निर्देश दिए। कमिश्नर ने शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल शहडोल परिसर में प्रतिदिन कचरा वाहन भेजे जाने के निर्देश दिए। वर्तमान आवश्यकता को दृष्टिगत रखते हुए स्ट्रेचर महाविद्यालय के स्वशासी मद क्रय किए जाए एवं अतिरिक्त स्ट्रेचर की व्यवस्था एईसीएल एवं रेलवे अस्पताल शहडोल लेने के निर्देश दिए।
उपलब्ध कराये सामग्री
बैठक में कमिश्नर ने शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल शहडोल कोविड-19 के मरीजों आवश्यक सामग्री उपकरण एवं ऑक्सीजन की उपलब्धता इत्यादि की रियल टाइम जानकारी गूगल सीट पर उपलब्ध कराए जाने के निर्देश दिए, जिसकी डाटा इंट्री ई-दक्ष में पदस्थ एवं उपलब्ध डाटा एंट्री ऑपरेटर के माध्यम से किया जाएगा। कमिश्नर ने इसका दायित्व स्वप्निल जैन सौंपा।
हेल्प डेस्क लगाए जाने के निर्देश
बैठक में डेडिकेटेड कोविड अस्पताल, शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय शहडोल में भर्ती मरीजों से आवश्यक मेडिकल सेवाओं की जानकारी एवं फीडबैक दूरभाष पर समय-समय पर अधिष्ठाता एवं प्रभारी अस्पताल अधीक्षक द्वारा लिए जाने के निर्देश दिए। कमिश्नर नरेश पाल ने जिले के विभिन्न विभागों में पदस्थ काउंसलर्स की ड्यूटी डेडीकेटेड कोविड अस्पताल, शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय में हेल्प डेस्क पर लगाए जाने के निर्देश मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी शहडोल को दिए, ताकि मरीज के परिजनों से मरीज के तत्कालिक मेडिकल स्थिति के बारे में संवाद स्थापित कर सके।
कर्मचारियों का तत्काल करें निलंबन
बैठक में कमिश्नर ने डेडिकेटेड कोविड अस्पताल शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय में लगाए गए सीसीटीवी कैमरे की सतत निगरानी हेतु कंट्रोल रूम में आवश्यकतानुसार ड्यूटी लगाए जाने संबंधी निर्देश अधिष्ठाता मेडिकल कॉलेज को दिए तथा राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन मध्यप्रदेश भोपाल के माध्यम से स्थाई रूप से नियुक्त किए गए आवश्यक मानव संसाधन जो कि दीर्घ अवधि से अनुपस्थित है, ऐसे कर्मचारियों को निलंबन का तत्काल आदेश जारी करने के निर्देश दिए।
यूनिफार्म व नेम प्लेट अभिलंब देने के निर्देश
कोविड-19 के प्रकरणों की समीक्षा एवं कोविड-19 अग्रिम व्यवस्थाओं की कार्यवाही संबंधी बैठक में कमिश्नर ने डेडीकेटेड कोविड अस्पताल शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय में प्रतिदिन ड्यूटी डॉक्टर्स एवं अन्य स्टाफ का समय समय पर दूरभाष नंबर महाविद्यालय की वेबसाइट एवं नोटिस बोर्ड में चस्पा किए जाने के निर्देश दिए तथा डेडिकेटेड कोविड अस्पताल, शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय में कार्यरत समस्त चिकित्सक वार्ड बॉय एवं आया का यूनिफार्म तथा नेम प्लेट अभिलंब दिए जाने के निर्देश दिए गए।
भर्ती मरीजों को मिले बेहतर इलाज
बैठक में कमिश्नर ने वर्तमान स्थिति को देखते हुए जिला अस्पताल शहडोल में स्थापित होने वाले आईसीयू वार्ड हेतु प्रशिक्षित डॉक्टर्स व पैरामेडिकल स्टाफ की ड्यूटी डेडिकेटेड कोविड अस्पताल स्वास्थ्य चिकित्सा महाविद्यालय शहडोल में लगाए जाने के निर्देश मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को दिए, जिससे कि भर्ती मरीजों को बेहतर इलाज एवं सुविधाएं प्रदान की जा सके। बैठक में कमिश्नर ने मरीजों की मृत्यु एवं उससे संबंधित प्रमुख कारणों की जानकारी विश्लेषण कर संबंधित स्टेट होल्डर्स को तत्काल उपलब्ध करायें जाने के निर्देश दिए है, ताकि आवश्यक कदम तत्कालिक रूप से उठाए जा सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *