मंत्री सिलावट और राज्य मंत्री पटेल ने दुर्घटना पीडि़तों के परिजन को दी सांत्वना राहत और बचाव कार्यों का लिया जायजा

संतोष कुमार केवट

केन्द्र सरकार से दो लाख और राज्य सरकार से पाँच लाख रूपये की सहायता मृतकों की अंत्येष्टि के लिए 10-10 हजार रूपये की सहायता
अनूपपुर। कल दिनॉक 17 फरवरी को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट और ग्रामीण विकास राज्य मंत्री श्री राम खेलावन पटेल ने आज सीधी जिले के बस दुर्घटना स्थल पर पहुँचकर राहत एवं बचाव कार्यों का जायजा राज्य सरकार के साथ केन्द्र ने भी दी सहायता मुख्यमंत्री चौहान ने बताया कि प्रत्येक मृतक के परिवार को केन्द्र सरकार की ओर से दो लाख रूपये और राज्य सरकार की ओर से पाँच लाख रूपये की सहायता राशि प्रदान की जा रही है। दुरूख की घड़ी में हम पीडि़तों के परिजनों के साथ हैं। मंत्रीद्वय ने दुर्घटना में मृत व्यक्तियों के परिजनों से मुलाकात कर शोक व्यक्त किया और उन्हें सांत्वना दी। जल संसाधन मंत्री सिलावट ने कहा कि घटना बहुत ही दुरूखद तथा दुर्भाग्यपूर्ण है। दुर्घटना की उच्च-स्तरीय जाँच के आदेश दे दिये गये हैं। दुर्घटना पीडि़तों को हरसंभव सहायता दी जायेगी। दुरूख की इस घड़ी में सरकार और प्रशासन पीडि़तों के साथ है। अंतिम संस्कार के लिए 10-10 हजार रूपये की अंत्येष्टि सहायता प्रदान दुुर्घटना में मृत व्यक्तियों के अंतिम संस्कार के लिए जिला प्रशासन ने 10-10 हजार रूपये की सहायता राशि मृतकों के परिजनों को नगद दी।
संयुक्त टीम ने किया राहत और बचाव कार्य
बस दुर्घटना की सूचना मिलते ही रीवा संभाग के कमिश्नर राजेश कुमार जैन, आईजी उमेश जोगा तथा डीआईजी अनिल सिंह कुशवाह तत्काल दुर्घटना घटना स्थल पर पहुँचे। उन्होंने राहत तथा बचाव कार्य की सतत निगरानी की। पुलिस, होमगार्ड तथा एनडीआरएफ की टीमों ने राहत एवं बचाव कार्य किया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर बाणसागर नहर का पानी तत्काल रोका गया। क्रेन की मदद से दुर्घटनाग्रस्त बस को बाहर निकाला गया। राहत और बचाव दल ने दुर्घटना में मृत 45 व्यक्तियों के शव बरामद किये। दुर्घटना स्थल पर सांसद सीधी श्रीमती रीति पाठक, विधायक चुरहट शरदेन्दु तिवारी एवं विधायक सिहावल तथा पूर्व मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल ने राहत तथा बचाव कार्य की निगरानी की। मौके पर चिकित्सकों का दल भी निरंतर कार्यरत रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *