धोखे में रखकर मरीजों के परिजनों से लिए थे रूपये

भोपाल। कोरोना काल के दौरान प्रदेश के विभिन्न जिलों में स्थित 55 अस्पतालों में भर्ती आयुष्मान भारत निरामयम योजना के हितग्राहियों से धोखे में रखकर राशि वसूली गई थी, शिकायतों के बाद सभी 63 शिकायतकर्ताओं को 29 लाख 18 हजार रूपये विभाग के द्वारा वसूल कर वापस लौटा दिये गये हैं, यही नहीं आयुष्मान कार्ड के तहत दिये गये दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने के कारण मरीजों से ली गई राशि के साथ उनके ऊपर 3.64 करोड़ रूपये का जुर्माना भी लगाकर वसूला गया। विभाग द्वारा यह भी अपील की गई है कि किसी निजी अस्पताल के द्वारा आयुष्मान कार्ड होने के बाद भी यदि हितग्राही से धोखे में राशि ली जाती है तो, उसकी सूचना और शिकायत विभाग के टोल-फ्री नंबर1800-233-2085 या 14555 पर कॉल कर शिकायत दर्ज करवाई जा सकती है, सरकार के पोर्टल पर भी दर्ज कराई जा सकती है।
सबसे ज्यादा भोपाल की शिकायतें
आयुष्मान भारत निरामयम योजना अंतर्गत जो शिकायतें मरीजों और उनके परिजनों के द्वारा दर्ज कराई गई, उसमें राजधानी सबसे आगे है, यहां प्रदेश के अन्य जिलों की तुलना में सबसे अधिक 48 शिकायतें जांच के बाद सही पाई गई, भोपाल के बाद जबलपुर में 17, ग्वालियर में 10, उज्जैन में 6 व सागर में 5 एवं रीवा व इन्दौर से 1-1 शिकायत दर्ज हुई है।
9.88 लाख का हुआ मुफ्त इलाज
प्रदेश के विभिन्न जिलो में भारत निरामयम योजना के तहत 455 सरकारी व 432 निजी अस्पतालों को शामिल किया गया है, इनमें से 55 अस्पतालों के खिलाफ शिकायतें सही पाई गई थी, कोरोना काल के अलावा अन्य समय के दौरान शिकायतकर्ताओं ने फोन और अन्य माध्यम से अपनी शिकायते दर्ज कराई थी, जांच के बाद 55 शिकायतें सही पाई गई, जिनमें मरीजों से इलाज के उपरांत धोखाधड़ी कर पैसे लिए गये थे, विभाग ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए 29.18 लाख वसूली गई राशि के साथ कुल 3.64 करोड़ की पेनाल्टी ली है। प्रदेश में अब तक 2 करोड़ 56 लाख 27 हजार आयुष्मान कार्ड जारी हो चुके हैं, जिसमें 9.88 लाख लोगों ने इस योजना का लाभ लेकर मुफ्त में इलाज भी कराया है।
यहाँ करे शिकायत
स्वास्थ्य विभाग के संचालक एवं आयुष्मान भारत निरामयम योजना के मुख्य कार्यपालन अधिकारी अनुराग चौधरी के अनुसार योजना से संबद्ध अस्पताल यदि आयुष्मान कार्ड से उस बीमारी का निशुल्क इलाज करने से मना करता है, जिसके लिए उस अस्पताल को योजना से संबद्ध किया गया है तो टोल फ्री नंबर 1800-233-2085 या 14555 पर कॉल कर शिकायत दर्ज करवाई सकती है। सरकार के पोर्टल htm
GRMS/rogannew.राशिकायत दर्ज करा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *