नंद के आनंद भयो जय कन्हैया लाल की , रीठी में श्री कृष्ण जन्मोत्सव पर झूम कर नाचे श्रोता

नंद के आनंद भयो जय कन्हैया लाल की , रीठी में श्री कृष्ण जन्मोत्सव पर झूम कर नाचे श्रोता

कटनी।। श्रीमद् भागवत कथा एवं विष्णु म

हायज्ञ के चतुर्थ दिवस श्री राम जानकी मंदिर परिषद रीठी में भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव बड़े ही धूमधाम से मनाया गया। जैसे ही कथा व्यास कृपा शंकर जी महाराज ने भगवान श्री कृष्ण के जन्मोत्सव का प्रसंग सुनाया वैसे ही नंद के आनंद भयो जय कन्हैया लाल की से पंडाल गूंज उठा चौतरफा भगवान श्री कृष्ण की जय-जय कार हो उठी। ढोल नगाड़ों और पटाखों की गूंज से पूरा रीठी नगर गूंज उठा। साथ ही संगीत पर जगदीश यादव ने सुंदर बधाइयों से श्रोताओं का मन मोह लिया। पंडाल पर हर जगह श्रोता मंत्रमुग्ध होकर नाच करते भगवान श्री कृष्ण के जन्मोत्सव पर मानव मथुरा सा माहौल पैदा हो गया। इससे पूर्व कथा व्यास कृपा शंकर जी महाराज ने कहा कि सत्कर्म ही जीवन का आधार है जीवन में मनुष्य को दान अवश्य करना चाहिए। उन्होंने संतों की परिभाषा बताते हुए कहा कि आज असली नकली का खेल चल रहा है परंतु असली संत वही है जिसकी पहचान भागवत बताती है। उन्होंने कहा की संत और साधु में सहनशीलता करो ना साहिर देता अजातशत्रु शांत और परोपकारी जैसे गुण होना बहुत आवश्यक है।रात्रि में श्री कृष्ण की लीलाओं का मंचन में भगवान श्री कृष्ण के जन्मोत्सव का मंचन भी किया गया। सोमवार को कथा स्थल पर सोने लाल पटेल, केशव मिश्रा, मिलूं लाल चक्रवर्ती, डीपी विश्वकर्मा, भोले राम हल्कार, नंद राम सैनी, रघुवीर साहू, राजेश कंदेले, मोहन पाठक, आंनद चौबे, सुनील दुबे, दिनेश दुबे, मुकेश पटेल, राजू रखौलया सहित बड़ी संख्या में श्रोतागण उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed