फर्जी पत्रकारों की खैर नहीं : इंदौर में दर्ज हुआ रासुका

इंदौर: इंदौर में पकड़ाए फर्जी पत्रकार देवेंद्र मराठा को इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने रासुका में 6 महीने के लिए निरुद्ध जानकारी के अनुसार इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने फर्जी पत्रकार देवेंद्र मराठा पर रासुका लगाते हुए सभी शासकीय अधिकारियों को भी निर्देश दिए है कि वे सभी फ़र्ज़ी पत्रकारों से दूरी बनाये।

इंदौर में जिला और पुलिस प्रशासन ने पत्रकारिता की आड़ में ब्लैकमेलिंग का गौरखधंधा चलाने वाले गिरोह पर प्रहार शुरू कर दिया है।कलेक्टर मनीष सिंह ने जबरन वसूली की कई शिकायतों पर पकड़ाए फर्ज़ी पत्रकार देवेंद्र मराठा के ख़िलाफ़ कड़ा एक्शन लेते हुए कहा है कि इस प्रकार जो कोई भी पत्रकारिता के पेशे को बदनाम करेगा उन सभी पर रासुका लगा दी जाएगी।

गौरतलब है कि आरोपी फ़र्ज़ी पत्रकार देवेंद्र मराठा लंबे समय से खुद को पत्रकार बताकर लोगो को ब्लैकमेल कर उनसे रुपये वसूल रहा था।मराठा पर लसूड़िया थाना में ढाबा संचालक हरजिंदर गिर ने 5000 रुपये वसूलने के प्रकरण दर्ज करवाया था,भंवरकुआं थाना में सिपाही कमल सिंह ने देवेंद्र पर ब्लैकमेल कर 10 हज़ार रुपये मांगने की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी तो वही विजय नगर थाने में जिम संचालक प्रतीक जोशी ने देवेंद्र पर 50 हज़ार रुपये वसूलने और प्रोटीन पाउडर का डिब्बा उठा कर ले जाने का आरोप लगाया है।खजराना थाना में भाजपा नेता नासिर शाह ने भी देवेंद्र पर 20 हज़ार रुपये लेने की शिकायत दर्ज करवाई थी।अब तक आरोपी देवेंद्र पर कुल पांच केस दर्ज हो चुके है।

इतने दिनों से देवेंद्र भंवरकुआ पुलिस के पास रिमांड पर चल रहा था आज विजय नगर पुलिस ने उसे रिमांड पर लिया है।जिम संचालक प्रतीक जोशी को देवेंद्र ने ड्रग्स के केस में फंसने की धमकी देकर उससे 50 हज़ार रुपये वसूले थे।साथ ही प्रोटीन पाउडर भी उसकी दुकान से उठा कर ले गया था।देवेंद्र के साथ उसके 2 और साथियों पर भी पुलिस ने नामजद मुकदमा दर्ज किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *