एक्वा फ्रेश के नाम पर मुख्यालय में अमानक पानी

स्वास्थ्य के लिए खतरा बना पानी पाउच

दिखावे तक सिमटी जिम्मेदारी कार्यवाही

 

शहडोल। लोग कई बार अपनी सुविधा के लिए पानी की पूरी बोतल खरीदने की बजाय एक या दो रूपये में मिलने वाले पानी पाउच को खरीद लेते हैं, लेकिन अगर आप भी प्यास बुझाने के लिए पाउच वाला पानी पीते हैं, तो सावधान हो जाइए। जिले में एक्वा फ्रेस के नामक कंपनी का पानी पाउच लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर सकता है। बाजार में अमानक पानी बिक्री (पाउच) के संबंध में कार्यवाही का अधिकार स्थानीय प्रशासन व खाद्य और औषधि विभाग के जिम्मे है, बावजूद इसके विभाग द्वारा अपनी जिम्मेदारी को पूरी तरह से नहीं निभाने के चलते शहरवासियों को सदैव बीमारियों का डर बना रहता है।
बीमार होने की आशंका
शहर में पानी पाउच की इतनी डिमांड है कि आर्डरों की पूर्ति करने पानी के पाउच का स्टॉक पहले से बनाकर रख लिया जाता है, निर्माण डेट या एक्सपायरी डेट डालने से पाउच खपाने में दिक्कत आ सकती है, वहीं विभाग चंद दिखावे की कार्यवाही करके अपनी जिम्मेदारियों को पूरी तरह से चुस्त व दुरूस्त तरीके से किए जाने का दिखावा करता है। विभाग द्वारा अपने कार्याे को पूरी तरह से नहीं किए जाने के चलते लोगों को मजबूरन अमानक पानी पीना पड़ता है, जिससे उनके बीमार होने की आशंका बनी रहती है।
विभाग का खुला संरक्षण
एक बार फिर नगर एवं आसपास के बाजारों में एक्वा फ्रेस पानी पाउच बेचा जा रहा है, पाउचों पर निर्माता कंपनी का नाम, कंपनी का पता और मोबाइल नंबर , आईएसआई मार्का, बैच नंबर तो अंकित है, लेकिन ग्राहकों को निर्माण की तिथि, उपयोग की अवधि आदि नग्न आंखो से देखने को नहीं मिल रही है, जहां एक ओर खुलेआम संभागीय मुख्यालय सहित आस-पास के अंचलों में अमानक पानी सप्लाई हो रहा है, वहीं दूसरी ओर जिम्मेदारों ने इस कारोबार को खुला संरक्षण दिया हुआ है।
हो सकता है हानिकारक
खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग से पाउच में पानी बेचने के लिए विभाग द्वारा अनुमति और लाइसेंस प्रदान किया जाता है, लेकिन एक्वा फ्रेश के नाम पर जिले में लोगों को अमानक पानी बेचा जा रहा है। एक्वा फ्रेश पानी पाउच में न तो मैन्युफैक्चरिंग डेट है और न ही एक्पायरी डेट है। आसानी से समझा जा सकता है कि अवैधानिक और अमानक तरीके से पानी भरकर नगर में मिनरल वाटर के नाम से बेचे जा रहे ये पानी पाउच स्वास्थ्य के लिए कितने हानिकारक हो सकते हैं।
कायदों का नहीं हो रहा पालन
पानी के पाउच तैयार करने से पहले पानी की शुद्धता आंकी जानी चाहिए, सूत्रों की माने तो एक्वा फ्रेश पैक्ड डिं्रक वॉटर में ब्लीचिंग पाउडर एवं फिटकरी को मात्रा के हिसाब से उपयोग किया जाना चाहिए, लेकिन सारे मापदण्डों को ताक पर रखकर पैकिंग की जा रही है, नियम के अनुसार पाउच तैयार करने से पहले पानी में निर्धारित मात्रा में उच्च गुणवत्ता युक्त फिटकरी डाली जानी चाहिए। 24 घंटे तक मानक स्तर की फिटकरी पानी में रहने के बाद फिल्टर मशीन से पानी को शुद्ध किया जाना चाहिए। इसके बाद ही पैकिंग तैयार करना होता है। लेकिन पाउच वाले पानी को बनाने में ऐसे किसी मापदंड को अपनाया नहीं जाता है।
इनका कहना है…
4 माह पहले एक्वा फे्रेश के प्लांट की जांच की गई थी, उस समय पैकिंग के संबंध में आवश्यक निर्देश दिये गये थे, वहां डेट पंचिग मशीन से डाली जाती है, आपके द्वारा जानकारी मिली है, दोबारा जांच की जायेगी।
बृजेश विश्वकर्मा
फूड इंस्पेक्टर, शहडोल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed