पंचायतों में बिना GST और मनमाने बिल लगाने वाले अब दर्जनभर विभागों की रडार में

रडार पर पंचायतों के फर्जी वेण्डर
ब्यौहारी में आयकर का छापा तो करकेली में खनिज का नोटिस
जनपद और जिंप में बैठे जिम्मेदार भी होंगे रडार में

शहडोल। शनिवार की दोपहर को जिले के ब्यौहारी मुख्यालय में रोजगार सहायक से वेण्डर बने त्रिवेन्द्र सिंह की पूजाश्री इंफ्रो एण्ड एसोसिएट्स नामक फर्म के कार्यालय पर आयकर विभाग की टीम ने छापा मारा, त्रिवेन्द्र सिंह इस दौरान उपस्थित नहीं हुए, उन पर आरोप था कि उनके द्वारा पपौढ़ पंचायत सहित अन्य कई पंचायतों में फर्जी बिल लगाकर भुगतान उठाये गये और बिना खरीदी बिक्री के ही, भुगतान किये गये इन बिलों का बंदरबांट कर लिया गया। त्रिवेन्द्र सिंह ने न तो जीएसटी और न ही आयकर विभाग के नियमों का पालन किया और न ही उस हिसाब से कर जमा की। दूसरा मामला उमरिया जिले के करकेली जनपद के ग्राम सलैया-13 का है, जहां कुलदीप ट्रेडर्स नामक फर्म के द्वारा बीते कुछ वर्षाे में जनपद की पंचायतों में खनिज के दर्जनों बिल लगाये गये और भुगतान लिया गया, खनिज विभाग ने 4 नवम्बर को नोटिस जारी करते हुए कथित वेण्डर से भुगतान लिये गये बिलों और उसमें उल्लेखित खनिज की रॉयल्टी पर्चिंया तथा अन्य दस्तावेज तलब किये हैं।
संचालक फरार, सील कर लौट गई टीम
ब्यौहारी विकास खण्ड मुख्यालय स्थित बस स्टैण्ड के ठीक सामने पूजाश्री इंफ्रो एण्ड एसोसिएट्स नामक प्रतिष्ठान पर शनिवार की दोपहर एक से डेढ़ बजे के बीच आयकर विभाग के द्वारा छापेमारी की खबर है। जनपद अंतर्गत ग्राम पपोढ़ के रोजगार सहायक त्रिवेन्द्र सिंह के द्वारा बीते एक दशक से यहां पर उक्त प्रतिष्ठान का संचालन किया जा रहा था, हालाकि यहां बिल काटने और तथाकथित रोजगार सहायक की बैठकी ही होती थी। उक्त स्थान से किसी भी प्रकार की खरीदी-बिक्री नहीं की जाती थी। जिसकी शिकायत आयकर, वस्तु एवं सेवाकर सहित अन्य विभागो को भी की गई थी। संभवत: इसी मामले में विभागीय टीम यहां जांच करने पहुंची, लेकिन संचालक अंतिम समय तक नहीं आये और देर शाम टीम ने प्रतिष्ठान को सील कर दिया।
दर्जन भर कर्मचारियों में महिलाएं भी शामिल
पूजाश्री इंफ्रो एण्ड एसोसिएट्स फर्म के नाम पर जनपद क्षेत्र की दर्जनों पंचायत में बिल लगाकर भुगतान लिया जा रहा था। जिसमें संभवत: करोड़ों को टर्न ओव्हर हो चुका था, पूर्व में भी उक्त रोजगार सहायक के खिलाफ स्थानीय थाने में प्राथमिकी दर्ज हुई थी, विभागीय अधिकारी भी दोपहर से लेकर अभी तक यहां रखे हुए दस्तावेजों को खंगाल रहे हैं, यहां पूरी जांच के बाद ही किसी भी तरह के बयान देने की बातें कहीं हैं।
07 दिन का अल्टीमेटम
खनिज अधिकारी द्वारा ग्राम पंचायत सलैया-13 में कुलदीप ट्रेडर्स द्वारा 2016-17, 2017-18, 2018-19 एवं 2019-20 में खनिज मुरूम, रेत, गिट्टी के लाखों रूपये के बहुतायात में विक्रय विभिन्न ग्राम पंचायतों को किया गया, जिसके बिक्री के बिल संबंधित ग्राम पंचायतों में लगाये गये हैं, खनिज विभाग ने बिना रायल्टी रसीद के विक्रय किया गया है, खनिज भण्डारण अनुज्ञप्ति भी स्वीकृत नहीं है, विभाग ने 07 दिवस का अल्टीमेटम कथित फर्म संचालक को दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *