विद्यालय के क्लर्क ने छात्रों के साथ की मारपीट @ मामला पहुंचा थाने

गवर्नमेंट ज्ञानोदय विद्यालय बिचारपुर का मामला

शहडोल। होली का रंग कुछ इस कदर लगा कि गवर्नमेंट ज्ञानोदय विद्यालय बिचारपुर के क्लर्क ने छात्रों के साथ मारपीट करना शुरू कर दिया जी हां दरअसल मामला संभागीय मुख्यालय से सटे ग्राम विचारपुर का है जहां पदस्थ क्लर्क मिथिलेश सिंह के द्वारा छात्रों के साथ मारपीट करने का मामला सामने आया है जहां कन्या छात्रावास की छात्राओं ने बताया कि बीही तोड़ने की बात को लेकर मिथिलेश सिंह के द्वारा मारपीट की गई है हम आपको बता दें कि शराब के नशे में धुत क्लर्क मिथिलेश सिंह ने विद्यालय में पहले तो शराब पी इसके बाद छात्रों के साथ मारपीट करना शुरू कर दिया वही कुछ छात्र कोतवाली थाना पहुंचे और घटित घटना की रिपोर्ट दर्ज करवाई।

यह पूरा मामला

दरअसल मामला होली के दूसरे दिन का है जहां मंगलवार को विद्यालय के क्लर्क मिथिलेश सिंह के द्वारा घटित घटना को अंजाम दिया गया है पहले तो मिथिलेश सिंह ने विद्यालय परिसर में शराब पी इसके बाद छात्रों के साथ बीही तोड़ने की बात को लेकर मारपीट करने लगे मारपीट कुछ ज्यादा ही हो गई जिसके बाद विद्यालय के छात्र अपनी फरियाद लेकर कोतवाली थाना पहुंचे और अपनी व्यथा सुनाई।

तो क्या प्राचार्य का मिला अभयदान

इस पूरे मामले में जब पड़ताल की गई तो सूत्रों ने यह भी बताया कि प्राचार्य श्री पुट्टा का पूरी तरह मिथिलेश सिंह को अभयदान मिला है और यही कारण है कि मिथिलेश सिंह के द्वारा खुलेआम अपनी दादागिरी दिखाते हुए छात्रों के साथ मारपीट की गई है इससे यह बात तो साफ हो गई कि प्राचार्य के द्वारा पूरी तरह से खुली छूट दी गई है और यही कारण है कि विद्यालय में पदस्थ क्लर्क छात्रों के साथ बदसलूकी करते नजर आ रहे हैं।

छात्राओं ने लगाया आरोप

गवर्नमेंट ज्ञानोदय विद्यालय बिचारपुर की छात्राओं ने आरोप लगाते हुए कहा है कि उन्हें विद्यालय में मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध नहीं हो रही है प्राचार्य के द्वारा आए दिन छात्राओं को प्रताड़ित किया जाता है और विद्यालय में पदस्थ क्लर्क के द्वारा रोजाना बदसलूकी की जाती है छात्राओं ने यह भी आरोप लगाया है कि प्राचार्य के द्वारा रहन-सहन के मामले में भी रोक तो की जाती है जबकि छात्राओं ने बताया कि होली के त्यौहार में उनके परिजन मिलने आए थे लेकिन प्राचार्य के द्वारा उनके परिजनों को विद्यालय के मुख्य मार्ग से ही बाहर कर दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *