जमीनी विवाद पर युवक की लोहे की धारदार लकड़ी काटने की आरी व कुल्हाड़ी से गला काटकर हत्या, साक्ष्य छुपाने शव को बोरा में भरकर महानदी में फेका , पुलिस की तत्परता सें आरोपी गिरफ्तार

जमीनी विवाद पर युवक की लोहे की धारदार लकड़ी काटने की आरी व कुल्हाड़ी से गला काटकर हत्या, साक्ष्य छुपाने शव को बोरा में भरकर महानदी में फेका , पुलिस की तत्परता सें आरोपी गिरफ्तार 

कटनी ! विजयराघवगढ़ पुलिस ने किया अभिषेक ताम्रकार की बोरे में मिली सर कटी लाश कें मामले में हत्या काण्ड का खुलासा कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है़ ! इस संबन्ध में विजयराघवगढ़ की पुलिस अनुविभागीय अधिकारी शिखा सोनी ने जानकारी में बताया कि विजयराघवगढ़ की रहने वाले मृतक अभिषेक ताम्रकार की माँ पुष्पा ताम्रकार ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि उनका लड़का अभिषेक ताम्रकार उम्र 30 वर्ष कई दिनों लापता है! जिसके बाद पुलिस कें द्वारा करवाई कों प्रारंभ किया गया इसके साथ ही मृतक अभिषेक की माँ नें पुलिस कों जानकारी में बताया की  29 जनवरी की रात अभिषेक का विवाद पड़ोस के रमेश ताम्रकार एवं उसके परिवार से हुआ था। उसी रात से अभिषेक गायब है तथा इन पर अभिषेक के साथ घटना करने का संदेह व्यक्त किया गुमइंसान की तलाश कें दौरान 13 फरवरी की सुबह विजयराघवगढ़ पुलिस को सूचना मिली कि महानदी पुल के नीचे तरफ, नदी हिनौता घाट में एक बोरा में शव बंधा पड़ा है। सूचना पर थाना प्रभारी एवं थाना स्टाफ मौके पर पहुचे जहां जूट के बोरा में शव बंधा था तथा और कटा हुआ सिर कुछ दूर पर पड़ा हुआ था। शव की शिनाख्त गुमइंसान अभिषेक ताम्रकार के रूप में हुई। इस मामले की जांच के लिए मौके पर कटनी एसपी मयंक अवस्थी और शिखा सोनी अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) विजयराघवगढ़ द्वारा मौके पर पहुचकर घटना स्थल का निरीक्षण किया गया साथ ही मृतक अभिषेक ताम्रकार की माँ से पूछताछ की गई जिन्होंने बताया कि रमेश ताम्रकार, अर्चना ताम्रकार एवं उनके लड़के शिवम ताम्रकार एवं सत्यम ताम्रकार से पुराना जमीन का विवाद चल रहा था। पुलिस ने मामला दर्ज कर संदेहियों को हिरासत में पूछताछ की गई। जिन्होंने जुर्म करना स्वीकार किया और बताया कि अभिषेक ताम्रकार अकसर जमीनी विवाद को लेकर गाली गलौज करता रहता था दिनांक 29 जनवरी की रात गाली गलौज के दौरान अभिषेक का रमेश ताम्रकार और उसके परिवार के साथ मारपीट होने लगी, जिस पर रमेश ताम्रकार ने अपने परिवार के साथ मिलकर लोहे की धारदार लकड़ी काटने की आरी व कुल्हाड़ी से अभिषेक का गला काटकर हत्या कर दी और साक्ष्य छुपाने के लिये शव को बोरा में भरकर महानदी में फेक दिया। विवेचना में कथनों एवं भौतिक साक्ष्य के आधार पर उक्त आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *