रडार पर सूदखोरों का संगठित गिरोह: कप्तान

सूदखोरी के दलदल से बाहर निकालने का पुलिस-प्रशासन का प्रयास

 

शहडोल। जिले को सूदखोरों से मुक्त करने के लिए अब पुलिस और प्रशासन मैदानी स्तर पर उतर आया है। जगह-जगह शिविर लगाकर लोगों को जागरुक करना, उन्हें भरोसा दिलाना कि वे सूदखोरी के दलदल से बाहर आएं प्रशासन और सरकार उनके साथ है, यह काम खुद कलेक्टर और एसपी कर रहे हैं। गुरूवार को खैरहा में आयोजित शिविर के दौरान लगभग 67 पीडि़त पहुंचे थे, पुलिस अधीक्षक के मार्गदर्शन में इनकी स्कूटनी की गई और क्रमश: 19 अमलाई थाने में, 20-21 खैरहा, 20 से 24 धनपुरी और 7 से 8 बुढ़ार थाना क्षेत्र का मामला होने के कारण वहां भेज दिये गये। कप्तान के निर्देशन में चारों थानों की पुलिस भी शुक्रवार को सक्रिय नजर आई और मुख्यालय से डीएसपी सुश्री सोनाली गुप्ता खुद इन थाना क्षेत्रों में पीडि़तों के बयान लेने के लिए पहुंची।
मुखिया-कप्तान ने की सुनवाई
खैरहा थाना के राजेंद्रा कॉलोनी परिसर में ऑपरेशन शंखनाद के तहत कलेक्टर डॉ. सतेंद्र सिंह और पुलिस अधीक्षक अवधेश गोस्वामी जनसुनवाई करने पहुंचे थे। दोनों ही अधिकारियों ने सूदखोरी से परेशान लोगों से सीधी बात की, उन्हें हिम्मत देते हुए कहा कि आप लोग ज्यादा से ज्यादा संख्या में आए और सूदखोरों के खिलाफ अपनी शिकायते दर्ज कराएं, हम तत्काल उनके खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें जेल भेजेंगे। इस शिविर में विभिन्न थाना क्षेत्रों के लोगों ने अपनी शिकायतें दर्ज करवाई है। इन सभी शिकायतों की जांच करते हुए संबंधित थाना की पुलिस सूदखोरों के खिलाफ मामला दर्ज कर रही है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि शासन का उद्देश्य संगठित आपराधिक गिरोह को पूरी तरह से खत्म करने का है, गुरूवार को जो शिकायतें आई हैं, उनकी जमीनी स्तर पर स्कूटनी व विवेचना की जा रही है। हमें इस बात का भी ख्याल करना है कि कोई व्यक्तिगत रंजिश भुनाने के लिए यदि शिकायत करता है तो, उस मामले में तह तक जा कर समझना होगा। हमारी रडार पर इस संगठित गिरोहों के मगरमच्छ हैं। जिन्हें किसी भी स्थिति में नहीं छोड़ा जायेगा।
सीएम ने की शंखनाद की प्रशंसा: एसपी
पुलिस अधीक्षक ने शिविर के दौरान कहा कि पिछले 10 वर्षों में जितने भी कॉलरी के कर्मचारियों ने आत्महत्या की है, उन सभी की फाइल फिर से खोली गई है, सभी के मौत के पीछे की वजह खंगाली जाएगी। यदि इसमें सूदखोरी का एंगल सामने आया तो, संबंधित सूदखोर के खिलाफ अपराध पंजीबद्घ किया जाएगा। पुलिस ने जनता को बताया कि शहडोल पुलिस और प्रशासन द्वारा जो ऑपरेशन शंखनाद किया जा रहा है, उसकी प्रशंसा खुद सीएम शिवराज कर चुके हैं। उनकी भी मंशा है कि इस ऑपरेशन को एक वृहद रूप दिया जाए और जिले को सूदखोरों से मुक्त कराया जाए।
ध्वस्त होगी अचल संपत्ति: कलेक्टर
ऑपरेशन शंखनाद के तहत लगाए गए शिविर में पहुंचे कलेक्टर डॉ . सतेंद्र सिंह ने दो टूक कहा कि सूदखोरों के ब्याज की राशि जो अवैध संपत्ति बनाई गई है, उसे नष्ट कर दिया जाएगा। कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि ऐसे सभी सूदखोरों के खिलाफ अभियान चलाकर उनकी सभी चल-अचल संपत्ति की जांच कराई जाए। जितने भी सूदखोर हैं, उन्होंने ब्याज के पैसे से जो भी संपत्ति जुटाई है, उसे तत्काल ध्वस्त करने की कार्रवाई होगी। उनके बैंक दस्तावेज खंगाले जाएंगे और राशि भी रहेगी। कलेक्टर ने लोगों को भरोसा दिलाते हुए कहा कि हम जनता के साथ है, वे निडर होकर अपनी शिकायतें पुलिस तक पहुंचाएंगे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *