जीव जगत के श्वसन के लिए ऑक्सीजन आवश्यक: मेहरा

क्रेशरों में हो रहा सघन वृक्षारोपण

शहडोल। सघन वृक्षारोपण कार्यक्रम के तहत क्षेत्रांतर्गत संचालित स्टोन क्रेशरों में बीते वृक्षारोपण कार्यक्रम अंतर्गत पौधारोपण किया गया, जिसमें प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के कनिष्ठ वैज्ञानिक जी.के. बैगा के द्वारा बताया गया कि मध्य प्रदेश प्रदूषण बोर्ड द्वारा सघन वृक्षारोपण कराये जाने का पौधरोपण अभियान चलाया जा रहा है, जिसके तहत क्षेत्रांतर्गत संचालित मेसर्स आर.एस. स्टोन क्रेशर ग्राम-भमरहा एवं मेसर्स संजय सिंह स्टोर क्रेशर ग्राम-भमरहा में लगभग 100 पौधे लगाए गए। जिसमें फलदार वृक्ष जैसे आम , नीम , सीताफल , जामुन , आंवला आदि विभिन्न प्रजापतियों के पौधे लगाए गए।
जीव-जगत के लिए हानिकारक
मुख्यमंत्री द्वारा सघन वृक्षारोपण हेतु अंकुर अभियान की शुरुआत भी की गई है , कनिष्ठ वैज्ञानिक जी.के. बैगा द्वारा बताया गया कि वृक्षारोपण की आवश्यकता किसी भी स्थान की जलवायु उस स्थान के वर्षा और वायुमंडलीय तापमान पर निर्भर करती है, घटती वर्षा और असामान्य रूप से बढ़ते तापमान जीव जगत की आजीविका के लिए हानिकारक हैं। वर्षा की मात्रा बढ़ाने और वायुमंडल के तापमान को नियंत्रित करने के लिए अधिक पेड़ों की आवश्यकता होती है, अधिक वनों के कारण अधिक वर्षा होती है और असामान्य तापमान नियंत्रित होता है, इसलिए वृक्षारोपण अप्रत्यक्ष रूप से कृषि कार्यों में सहायता करके कृषि उत्पादकता बढ़ाता है।
वृक्षारोपण की जरूरत
जीव जगत के श्वसन के लिए ऑक्सीजन आवश्यक है, वातावरण में ऑक्सीजन की मात्रा कम होने से जीवित जीवों का विनाश हो सकता है, वृक्ष वाष्पीकरण प्रक्रिया के दौरान वातावरण में बहुत अधिक ऑक्सीजन जारी करता है, इसलिए हमें बहुत सारे वृक्षारोपण करने की जरूरत है। क्षेत्रीय कार्यालय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी संजीव मेहरा के निर्देशन में सघन वृक्षारोपण कराये जाने का पौधरोपण अभियान चलाया जा रहा है, जिसके तहत क्षेत्रांतर्गत संचालित स्टोन क्रेशरो में वृक्षारोपण कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। जिसमें प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के कनिष्ठ वैज्ञानिक जी.के. बैगा, मोतीलाल पटेल तथा उद्योग प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *