लूट के भागने वाले को पुलिस ने 48 घंटे में किया गिरफ्तार

 

 

आकाश गुप्ता रिपोर्टर✍✍

     अनूपपुर/भालूमाड़ा

5 जुलाई को रात लगभग 8:00 बजे कोतमा न्यायालय में बाबू धर्मेंद्र सिंह चौहान अपने घर चचाई के लिए निकले थे तभी रास्ते में बारिश होने के कारण वह नेशनल हाईवे तिरालिस बदरा के पास बंसी टोला यात्री प्रतीक्षालय में रुक गए जहां पर पहले से दो युवक बैठे थे और जब धर्मेंद्र सिंह चौहान अपना रेन कोट पहनने लगे तभी दोनों युवकों ने उन्हें धक्का मारकर उनकी मोटरसाइकिल लेकर फरार हो गए जिनकी शिकायत पर भालूमाडॉ पुलिस ने 48 घंटे में आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए मोटरसाइकिल जप्त करने में सफलता पाई।

 

 

भालूमाडॉ पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार दिनांक 5 जुलाई को रात लगभग 8:30 बजे शिकायतकर्ता धर्मेंद्र सिंह चौहान पिता स्वर्गीय श्याम सिंह उम्र 46 वर्ष निवासी चचाई थाना चचाई जो कि वर्तमान समय पर कोतमा न्यायालय में बाबू हैं थाने आकर मौखिक शिकायत दर्ज कराए की वे अपनी मोटरसाइकिल ग्लैमर से अपने घर चचाई जा रहे थे तभी तेज बारिश होने के कारण बंसी टोला यात्री प्रतिक्षालय में रुक गए जहां पर पहले से 2 लोग बैठे हुए थे और जैसे ही पानी कम हुआ और धर्मेंद्र सिंह चौहान जाने के लिए अपनी मोटरसाइकिल में बैठकर रेन कोट पहनने लगे उसी समय दोनों लोगों ने उन्हें धक्का मार कर गिरा दिया और उनकी मोटरसाइकिल जबरन लूट कर फरार हो गए।

    जिस पर भालूमाडॉ पुलिस ने फरियादी की शिकायत पर मामला दर्ज करते हुए अनूपपुर पुलिस अधीक्षक एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक व एसडीओपी कोतमा के दिशा निर्देशन में तत्काल टीम गठित की गई और आरोपियों की पतासाजी के लिए टीम को लगाया गया जिसमें पुलिस ने आरोपी प्रभात गुप्ता पिता छोटेलाल गुप्ता उम्र 18 वर्ष निवासी केवट मोहल्ला बदरा दूसरा आरोपी गजेंद्र कुमार त्यागी पिता रामदास उम्र 18 वर्ष निवासी चुआ टोला बदरा थाना भालूमाडॉ को दिनांक 6 जुलाई को गिरफ्तार करते हुए आरोपियों के पास से लूट की मोटरसाइकिल ग्लैमर क्रमांक एमपी 65 ME 1340 जिसकी अनुमानित कीमत लगभग 80 हजार रुपए को जप्त किया गया।

7 जुलाई को दोनों आरोपियों को कोतमा न्यायालय में पेश किया गया जहां न्यायालय द्वारा उन्हें जेल भेज दिया गया।

जबरन लूट की इस घटना को भालूमाड़ा पुलिस ने 48 घंटे के भीतर आरोपियों व मोटरसाइकिल को जप्त करने में सफलता पाई जिसमें भालूमाडॉ थाना प्रभारी हरिशंकर शुक्ला उप निरीक्षक त्रिलोक सिंह आरक्षक अभिषेक सिंह चौहान आरक्षक चालक करमजीत सिंह की सराहनीय भूमिका रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed