24 घंटे के अंदर पुलिस ने किया हत्या का खुलासा

(अजय जैसवाल) -9340172915

शहडोल। थाना प्रभारी सोहागपुर को 26 दिसम्बर को सूचना प्राप्त हुई कि ग्राम सिंदुरी भर्री में धोधई बैगा के पुत्र अमर बैगा की लाश उसके मकान के अंदर पड़ी हुई है तथा अमर बैगा के गले में चोट के निशान हैं। इस सूचना को थाना प्रभारी सोहागपुर द्वारा पुलिस अधीक्षक अवधेश कुमार गोस्वामी को बताया तथा उनसे मार्गदर्शन प्राप्त किया। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मुकेश वैश्य के मार्गदर्शन में उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय व्ही.डी.पाण्डेय घटना स्थल पर पहुंचकर तत्काल आवश्यक कार्यवाही करने हेतु थाना प्रभारी सोहागपुर को निर्देशित किया।
थाना प्रभारी सोहागपुर अपने स्टॉफ  के साथ घटना स्थल पहुंचकर लाश का निरीक्षण किये तो पाया गया कि मृतक के गले व जबड़े में किसी धारदार हथियार से चोट के निशान पाये गये, तथा मृतक की लाश अपने घर की परछी में पड़ी हुई पायी गयी। घटना स्थल पर पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में एफ.एस.एल. प्रभारी व डॉग स्क्वाड पहुंचकर निरीक्षण किया तथा डॉग स्क्वाड द्वारा घटना स्थल पर ट्रेकिंग की कार्यवाही की गयी। घटना स्थल के आस- पास के लोगों से घटना के संबंध में बारीकी से पूंछताछ की जाकर घटना का खुलासा करने का हर संभव प्रयास किया गया। प्रकरण में थाना प्रभारी सोहागपुर द्वारा धारा 302 भादवि का प्रकरण पंजीबद्ध कर प्रकरण की विवेचना की गयी।
मृतक अमर बैगा पिता घोघई बैगा उम्र 10 वर्ष पड़ोस के अपने चाचा सेम बैगा के घर से उनकी जानकारी के बिना करीब 02 किलो मक्का पॉलीथीन के झोले में उठाकर अपने घर ले आया था। मक्का उठाने की जानकारी मृतक के चाचा के लड़के को होने पर उसके द्वारा अमर बैगा के घर पहुंचकर अमर बैगा से पूछा की सूने घर से मक्का क्यों उठा लाये हो, इसी बात पर दोनो में विवाद हो गया, जिस पर मृतक अपने घर से कुल्हाड़ी निकालकर चाचा के लड़के को मारने दौड़ा, तो चाचा का लड़का (अपचारी बालक) कुल्हाड़ी छुड़ाकर मृतक के गले में दो-तीन वार किया, जिससे वह गिर गया व उसकी मृत्यु हो गयी। मृतक द्वारा मक्का उठा लाने के बदले में अपचारी द्वारा 01 बोरी धान मृतक के घर से उठा ले जाकर अपने घर में रख लिया था। प्रकरण में प्रयोग कि गयी कुल्हाड़ी, धान, इत्यादि अपचारी के कब्जे से पुलिस द्वारा बरामद कर ली गयी है।
अंधी हत्या का 24 घंटे के अंदर खुलासा पुलिस अधीक्षक के मार्गदर्शन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक एवं उप पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में थाना प्रभारी सुदीप सोनी के नेतृत्व में उनकी टीम में सम्मिलित उप निरीक्षक उमाशंकर चतुर्वेदी, ऋषिराज रजक, सहायक उप निरीक्षक रजनीश तिवारी, बालकरण प्रजापति, रामराज पाण्डेय, प्रधान आरक्षक रामप्रसाद, सुरेश, उदय, अमर, अजीत, गजराज एवं कृष्ण कुमार व चन्द्रमणी की भूमिका रही। 24 घंटे के अंदर उक्त जघन्य सनसनी खेज हत्या का खुलासा करने वाली टीम को पुलिस अधीक्षक शहडोल द्वारा पुरूष्कृत किये जाने की घोषणा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *