अवैध गतिविधियों को रोकने में नाकाम साबित हो रहे थाना प्रभारी 

Shrisitaram Patel – 9977922638

कबाड़ और डीजल चोरों के साथ चचाई पुलिस का हाथ 

अवैध गतिविधियों को रोकने में नाकाम साबित हो रहे थाना प्रभारी 

दर्जनों अवैध गतिविधियां संचालित, कार्यवाही के लिये दर-दर भटक रही पुलिस

 पुलिस अधीक्षक अखिल पटेल के आने के बाद हरेक अवैध गतिविधियों में कमी देखी गई है, लगातार कार्यवाही और विशेष टीम के माध्यम से छापामार कार्यवाही करते हुये बड़े-बड़े गुनहगारों को ठिकाने लगा दिये। लेकिन चचाई पुलिस कप्तान के मंशा के विपरीत चलने लगी है। यही कारण है कि कबाड़, डीजल, सट्टा, जुंआ व अन्य अवैध गतिविधि को पनाह मिलने लगा है। 

अनूपपुर। थाना चचाई अंतर्गत इन दिनों कप्तान और उप कप्तान की मंशा के विपरीत कार्य थाना प्रभारी बीएन प्रजापति व उनकी टीम करने लगी है। वेतन के अतिरिक्त धन कमाने के फेर में प्रभारी और नुमांइदे कबाड़ और डीजल चोरों के साथ हाथ से हाथ मिलाकर चलने लगी है, इतना ही नहीं सट्टोरियों और जुंआरियों को अपने क्षेत्र में संरक्षण देकर जिले की पुलिस की छवि खराब करने में अपना योगदान दे रहे हैं। बीते दिनों पुलिस अधीक्षक की स्पेशल टीम एसडीओपी सुश्री कीर्ति बघेल के नेतृत्व में घेराबंदी कर जुंआरियो को पकडक़र प्रभारी की कार्यशैली पर प्रश्र उठा दिया था।

राजू दी ग्रेट को संरक्षण

दो दर्जन से अधिक अपराध और जिला बदर की सूची में शामिल राजू दी ग्रेट व उसके पुत्र खुले रूप से पुलिस को चुनौती दे रहे हैं, वर्षो से कॉलरी क्षेत्र में अवैध डीजल चोरी कर बेचने वाले पिता-पुत्र आज भी इनका कारोबार बेखौफ फलफूल रहा है। थाना प्रभारी बीएन प्रजापति को राजू दी ग्रेट की सारी कहानी पता होने के बावजूद भी उनकी टीम इनके अवैध कारोबार को पकडऩे में नाकाम रही है। कुल मिलाकर जब तक पुलिस अधीक्षक की स्पेशल टीम इनके गिरोह तक नहीं पहुंचेगी तब तक इनका अवैध कारोबार चलता रहेगा।

नशे के साथ कारोबार

डीजल चोर राजू दी ग्रेट और उसके दो पुत्र सद्दाम और छोटू इस कारोबार को संचालित करते है, इस अवैध कार्य में दर्जनों लोगों को लगा रखा है। नशे के माध्यम से इन दर्जनों व्यक्तियों से पूरा कार्य लिया जाता है, शून्य से जीवन शुरू करने वाला राजू दी ग्रेट के पास आज आधा दर्जन से ज्यादा गाडियां व अन्य कारोबार संचालित हो रहे हैं। अब इनके हौसले इतने बुलंद हो चुके हैं कि मारपीट करना, गुंडागर्दी, कॉलरी की कीमती वस्तुएं पार करना बाएं हाथ का खेल चुका है। धनपुरी, अमलाई, बंगवार, ओसीएम से लाखो का डीजल पार कर क्षेत्र में बेधडक़ बेच रहे हैं।

सटोरियों पर मेहरबान साहब 

चचाई थाना अंतर्गत वर्षो से सटोरिये अपना कारोबार फैलाये हुये है, यहां तक कि बीच बाजार में सट्टे का कारोबार संचालित हो रहा है और साहब को इसकी जानकारी नहीं है। या फिर अपने ज्ञान की इन्द्रियों को बंद कर अवैध कारोबारियों पर थाना प्रभारी मेहरबान हैं। नशे और अवैध गतिविधियों पर रोक न लगाना या फिर इन्हीं के दम पर चंद पैसे कमाने की लालच में थाना क्षेत्र को बदनामी के श्रेणी में रख दिया गया है।

कबाडिय़ों को भी संरक्षण 

ताप विद्युत ग्रह से निकलने वाले स्क्रैप को अवैध रूप से पार करवाने में इनका योगदान रहता है, बीते माहो में अन्य राज्य का एक ट्रक पकड़ा गया था, लेकिन दिखावे की कार्यवाही कर कबाडिय़ों से सांठ-गांठ कर उसे छोड़ दिया गया था। इतना ही नहीं बल्कि बीते दिनों कोतवाली पुलिस ने एनएच 43 में एक कबाड़ से लदी गाड़ी पर कार्यवाही की गई थी, यह गाड़ी किसी कृष्णा गुप्ता पिता रामनाथ गुप्ता निवासी वार्ड नंबर 15 भालूमाडा का बताया जा रहा था। जिसमें न तो गाड़ी पे दस्तावेज थे और न ही कबाड़ के कोई बिल उपलब्ध थे। जानकारी के अनुसार यह गाड़ी कोतमा से अमलाई कबाड़ लेकर जा रहा था, जो चचाई थाना अंतर्गत कबाडिय़ों के ठीहे में पहुंचाया जा रहा था।

चोरी रोकने में नाकाम प्रभारी 

थाना प्रभारी बीएन प्रजापति जहां भी पदस्थ रहे हैं, वहां चोरी की वारदात रोकने में नाकाम ही रहे हैं। इसके पहले रामनगर थाने में लगातार चोरी की घटना घट रही थी, जिसके बाद इन्हें चचाई थाना भेजा गया था। अब यहां भी सिविल कार्यालय में तीन बार चोरियां हो चुकी है, लेकिन यहां भी चोरियों को रोकने में नाकाम नजर आ रहे हैं। इनके संरक्षण में अतिक्रमण भी सिविल की भूमि में जारी है।

इनका कहना है- 

मेरे द्वारा कार्यवाही करने के लिये टीम भेजकर घेराबंदी की योजना बनाई जा रही है, लेकिन कई दिनों से इनको पकडऩे में हमारी पुलिस असफल रही है। जैसे ही मिलते हैं कार्यवाही की जायेगी। पहले भी मेरे द्वारा राजू दी ग्रेट और उसके पुत्रों पर कार्यवाही की गई है।

बीएन प्रजापति,

थाना प्रभारी, चचाई

———————————-

मैं तत्काल थाना प्रभारी से बात करता हूं, और कार्यवाही के लिये निर्देश देता हूं।

अभिषेक राजन

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, अनूपपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published.