कारागार में बंद कैदी की इलाज के दौरान अस्पताल मे मौत, परिजनों ने किया हंगामा जिला कारागार में एक कैदी की अस्पताल मे इलाज के दौरान हुई मौत के बाद बंदी के परिजनों ने कारागार प्रशासन पर मृतक के साथ मारपीट का लगाया आरोप

कारागार में बंद कैदी की इलाज के दौरान अस्पताल मे मौत, परिजनों ने किया हंगामा
जिला कारागार में एक कैदी की अस्पताल मे इलाज के दौरान हुई मौत के बाद बंदी के परिजनों ने कारागार प्रशासन पर मृतक के साथ मारपीट का लगाया आरोप

 

कटनी ॥ जिले की झिंझरी जिला कारागार में बंद एक कैदी जिला चिकित्सालय मे इलाज के दौरान हुई मौत के बाद बंदी के परिजनों ने कारागार प्रशासन पर मृतक के साथ मारपीट का आरोप लगाते हुए शनिवार को जबरदस्त हंगामा किया! जेल अधीक्षक लीना कोस्टा ने बताया कि धर्मेंद्र पटेल ज्यादती के मामले में जेल में बंद रहा है इसकी तबीयत कुछ दिनों से ही खराब चल रही थी जिसे इलाज के लिए जिला चिकित्सालय भेजा गया था बाद में जेल में ही शिफ्ट करते हुए इलाज किया जा रहा था शुक्रवार को फिर से तबीयत बिगड़ गई जिसे इलाज के लिए जिला अस्पताल भेजा गया यहां पर इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई न्यायिक जांच कराई जाएगी
बंदी की मौत के बाद आज जिला अस्पताल पहुंचे परिजनों ने शव को देखने के बाद धर्मेंद्र उर्फ धरमू पटेल 34 वर्ष की मारपीट का आरोप लगाया और पोस्टमार्टम से इंकार करते हुए हंगामा करना शुरू कर दिया। परिजनों ने कारागार प्रशासन पर धर्मेंद्र उर्फ धरमू पटेल के साथ मारपीट करने का आरोप लगाया और अस्पताल में जमकर बवाल किया। बवाल की सूचना मिलने पर कोतवाली थानाप्रभारी अजय सिंह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुचे
धर्मेंद्र उर्फ धरमू पटेल के गले मे गहरे निशान का हवाला देते हुए परिजनों ने आरोप लगाया कि पहले उनके बेटे की बुरी तरह से पिटाई की गई, जब उसकी जान निकल गई तो जेल प्रशासन ने इलाज के दौरान उसकी मौत होने की कहानी बना दी। मृतक के परिजनों का कहना है कि उसके बेटे की मौत का जिम्मेदार जेल प्रशासन है।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *