ब्याज के पैसे से बनाई संपत्ति होगी नष्ट @ शिविर में मिली 68 शिकायतें

 

शहडोल। जिले को सूदखोरों से मुक्त करने के लिए अब पुलिस और प्रशासन मैदानी स्तर पर उतर आया है। जगह-जगह शिविर लगाकर लोगों को जागरुक करना, उन्हें भरोसा दिलाना कि वे सूदखोरी के दलदल से बाहर आएं प्रशासन और सरकार उनके साथ है, यह काम खुद कलेक्टर और एसपी कर रहे हैं। ऐसे ही बानगी गुरुवार को खैरहा थाना के राजेंद्रा कॉलोनी परिसर में देखने को मिली। जहां ऑपरेशन शंखनाद के तहत कलेक्टर डॉ। सतेंद्र सिंह और एसपी अवधेश गोस्वामी जनसुनवाई करने पहुंचे थे। दोनों ही अधिकारियों ने सूदखोरी से परेशान लोगों से सीधी बात की। उन्हें हिम्मत देते हुए कहा कि आप लोग ज्यादा से ज्यादा संख्या में आए और आएदखोरों के खिलाफ अपनी शिकायतें दर्ज कराएं हम तत्काल उनके खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें जेल भेजेंगे।इस शिविर में कोकोंचल के विभिन्न थाना क्षेत्रों के लगभग 68 लोगों ने अपनी शिकायतें दर्ज करवाई है। इन सभी शिकायतों की जांच करते हुए संबंधित थाना की पुलिस सूदखोरों के खिलाफ मामला दर्ज कर रही है।

ब्याज के पैसे से बनाई गई संपत्ति नष्ट होगी: कलेक्टर

ऑपरेशन शंखनाद के तहत लगाए गए शिविर में पहुंचे कलेक्टर डॉ सतेंद्र सिंह ने दो टूक कहा कि सूदखोरों के ब्याज की राशि जो अवैध संपत्ति बनाई गई है, उसे नष्ट कर दिया जाएगा। कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि ऐसे सभी सूदखोरों के खिलाफ अभियान चलाकर उनकी सभी चल-अचल संपत्ति की जांच कराई जाए। जितने भी सूदखोर हैं, उन्होंने ब्याज के पैसे से जो भी संपत्ति जुटाई है उसे तत्काल ध्वस्त करने की कार्रवाई होगी। उनके बैंक दस्तावेज खंगाए जाएंगे और राशि भी रहेगी। कलेक्टर ने लोगों को भरोसा दिलाते हुए कहा कि हम जनता के साथ है वे निडर होकर अपनी शिकायतें पुलिस तक पहुंचाएंगे।

10 साल में जितने कर्मचारियों ने आत्महत्या की, जांच होगी: एस.पी.

सूदखोरों के खिलाफ चलाए गए ऑपरेशन शंखनाद का नेतृत्व करने वाले एसपी अवधेश गोस्वामी ने शिविर के दौरान एक बड़ा ऐलान किया है। एसपी ने कहा कि पिछले 10 वर्षों में जितने भी कॉलरी के कर्मचारियों ने आत्महत्या की है उन सभी की फाइल फिर से खोली गई है। सभी के मौत के पीछे की वजह खंगाली जाएगी। यदि इसमें सूदखोरी का एंगल सामने आया तो संबंधित सूदखोर के खिलाफ अपराध पंजीबद्घ किया जाएगा। एसपी ने कहा कि कलेक्टर भी सिर्फ यही भरोसा दिला रहे हैं कि सरकार उनके साथ हैं। एसपी ने जनता को बताया कि शहडोल पुलिस और प्रशासन द्वारा जो ऑपरेशन शंखनाद किया जा रहा है उसकी प्रशंसा खुद सीएम शिवराज कर चुके हैं। उनकी भी मंशा है कि इस ऑपरेशन को एक वृहद रूप दिया जाए और शहडोल जिले को सूदखोरों से मुक्त कराया जाए।

 

शहर में व्यापारियों और महाजनों की शक्ल में छुपे है… सूदखोर
जिला मुख्यालय में भी कई ऐसे सूदखोर है जिन्होंने अपनी शक्ल व्यापारियों की ले रखी है तो कहीं महाजनों की लेकिन ये भी समाज के लिए बड़े नासूर बने हुए हैं कही सोने चांदी की दुकान के आड़ में तो कही ट्रेवल्स की आड़ में तो कहीं चलती फिरती दुकानों के भेष में चलते फिरते पान की गुमटी तो चाय के ठेले में अपनी बिसात बिछा रखी है।शहर के रेलवे स्टेशन रोड़ पर इस काम को डेढ़फुटिया भाऊ ने बखूबी सम्हाल रखा है,वही सिंधी बाजार में जमाने से टेड़का का कारोबार फल फूल रहा है वही बुढ़ार रोड पर मुकद्दर के सिकंदर ने भी ब्याज के कारोबार को बढ़ाने के घोड़े की जगह बकरों को दौड़ा दिया है औरअपना कारोबार जमा रखा है गंज के पास एक गुप्ता ने तो क्रांति ही पैदा कर रखी है वही एफ सी आई गोदाम में टीका धारी पंडित, शैलेस नामक लाओ साहब  ने भी कथरी ओढ़ कर घी पी रहे हैं कही जमीन के सौदे में तो कही ब्याजी कारोबार घर से कर रहे हैं वही लोगों में दहसत बना कर जमीनों पर हुकूमत कर ब्याज में रुपये बांट रखें है पुलिस लाइन के दीपक ने ब्याजी रुपए बांट रखें है इन्हें भी शहरी महाजनों की छत्रछाया है शहरी क्षेत्र के रेलवे कॉलोनी क्षेत्र में भी कैम्प लगाए जाएंगे तो कई पीड़ित निकल कर सामने आ सकते हैं और सरकार और प्रशासन के इस शंखनाद अभियान से कई घर बर्बाद होने से बच सकते हैं ।

 

 

तीन थानों के फरियादी पहुंचे

खैरहा थाना के राजेंद्रा कॉलोनी में ऑपरेशन शंखनाद के तहत लगाए गए शिविर में तीन थानों के फरियादी अपनी शिकायत लेकर पहुंचे। जिसमें खैरहा, अमलाई और धनपुरी क्षेत्र शामिल है। शाम शाम तक पुलिस 68 शिकायतें दर्ज कर चुकी थी। शिकायतों को दर्ज करने के बाद यह जांच शुरू होगी। फरियादियों को संबंधित थाने में बुलाकर उनके बयान दर्ज किए जाएंगे। इसके बाद आरोपित सूदखोरों के खिलाफ मामला पंजीबद्घ होगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *